पहले ही मैच में चमका राजस्थान का खलील, 3 विकेट झटककर…

राजस्थान, उगमराज चौधरी : राजस्थान के युवा क्रिकेटर खलील अहमद ने अपने पदार्पण मैच में ही धमाल मचाते हुए तीन विकेट झटक दिए। खलील की इस भूमिका से भारतीय टीम ने हांगकांग पर जीत दर्ज़ कर ली। दरअसल, विश्व की नंबर दो टीम भारत ने हांगकांग की कड़ी चुनौती पर बमुश्किल 26 रन की जीत से काबू पाते एशिया कप क्रिकेट के ग्रुप ए सुपर-4 में स्थान बना लिया। भारत को अब बुधवार को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से खेलना है। हांगकांग इस हार से एशिया कप से बाहर हो गया लेकिन उसने अपने जुझारू खेल से सभी का दिल जीत लिया। भारतीय टीम को इस संघर्षपूर्ण जीत के बाद पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले के लिए अपनी कमजोरियों को दूर कर लेना होगा। भारत ने बाएं हाथ के ओपनर शिखर धवन के मात्र 120 गेंदों में 127 रन की बदौलत भारत 50 ओवर में सात विकेट पर 285 रन बनाए। हांगकांग ने ओपनिंग विकेट के लिए 174 रन जोड़े लेकिन इस साझेदारी के टूटने के बाद भारत ने मैच में वापसी कर ली। हांगकांग की टीम ने आठ विकेट पर 259 रन बनाए। पदार्पण मैच खेल रहे बाएं हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद ने 48 रन पर तीन विकेट और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने 46 रन पर तीन विकेट और लेकर भारत की जीत का मार्ग प्रशस्त किया। चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने 42 रन पर दो विकेट लिए। मजबूत लक्ष्य का पीछा करते हुए हांगकांग के ओपनरों निजाकत खान और कप्तान अंशुमान रथ ने पहले विकेट के लिए 34.1 ओवर में 174 रन की जबरदस्त साझेदारी कर भारतीय टीम और उसके समर्थकों के माथे पर पसीना ला दिया। निजाकत ने 115 गेंदों में 12 चौके और एक छक्के की मदद से 92 और अंशुमान ने 97 गेंदों में चार चौकों और एक छक्के के सहारे 73 रन बनाकर कप्तान रोहित शर्मा को चिंता में डाल दिया।  रोहित ने अपने तेज और स्पिन गेंदबाजों का इस्तेमाल किया लेकिन सफलता नहीं मिली। कप्तान गेंदबाजों को बदल रहे थे और उनकी हताशा बढ़ती जा रही थी। आखिर चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने अंशुमान को रोहित के हाथों कैच कराकर भारत को राहत और पहली सफलता दिलाई। इस विकेट के साथ ही भारतीय टीम मुकाबले में लौट आयी। पदार्पण मैच खेल रहे राजस्थान के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद ने निजाकत को पगबाधा करने के साथ अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय विकेट लिया और निजाकत को शतक से वंचित कर दिया।  हांगकांग का पहला विकेट 174 और दूसरा विकेट 175 के स्कोर पर गिर गया। खलील ने क्रिस्टोफर कार्टर को विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के हाथों कैच कराया जबकि लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने बाबर हयात को धोनी के हाथों कैच करा दिया। हांगकांग का चौथा विकेट 199 के स्कोर पर गिरा। हांगकांग ने 25 रन के अंतराल में चार विकेट गंवाए और मैच भारत की पकड़ आ गया। चहल ने 45 वें ओवर में ङ्क्षकचित शाह और एजाज खान के विकेट लेकर मैच का रुख भारत के पक्ष में मोड़ दिया। चहल ने 10 ओवर के अपने स्पैल में 46 रन पर तीन विकेट लीये। हयात ने 18 और शाह ने 17 रन बनाये।  छह विकेट 228 रन पर गिर जाने के बावजूद हांगकांग ने संघर्ष जारी रखा लेकिन अपना आखिरी ओवर डालने आये कुलदीप ने स्कॉट मैकेंजी को धोनी के हाथों स्टंप करा दिया। हांगकांग का सातवां विकेट 240 के स्कोर पर गिरा। नए बल्लेबाज तनवीर अफजल ने आने के साथ ही कुलदीप पर सीधे *** जड़ दिया। हांगकांग के 47 ओवर में 246 रन बन चुके थे और संघर्ष जारी था। लेकिन लक्ष्य अंत में दूर रह गया और टीम 50 ओवर में 259 तक पहुंच सकी। एहसान ने 22 और तनवीर ने नाबाद 12 रन बनाये।  इससे पहले शिखर ने 127 रन की अपनी पारी में 15 चौके और दो छक्के लगाए। शिखर को इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज में रनों के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा था लेकिन अपनी जानी पहचानी पिचों पर लौटते ही उनके बल्ले ने रन उगले और शिखर ने अपना 14वां शतक बना डाला। बाएं हाथ के ओपनर ने अपना पिछला शतक इस साल फरवरी में जोहानसबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाया था। उसके बाद अगली पांच वनडे पारियों में वह कोई अर्धशतक नहीं बना पाए लेकिन एशिया कप में भारत के पहले मुकाबले में उन्होंने अपना जलवा दिखते हुए शतक ठोक डाला।  शिखर ने पहले विकेट के लिए कप्तान रोहित शर्मा (23) के साथ 45 रन, अंबाटी रायुडू (60) के साथ दूसरे विकेट के लिए 116 रन और दिनेश कार्तिक (33) के साथ तीसरे विकेट के लिए 79 रन जोड़े। शिखर 41वें ओवर में आउट हुए जिसके बाद हांगकांग के गेंदबाजों ने शानदार वापसी करते हुए भारत को 300 तक नहीं पहुंचने दिया। अपना पहला मैच पाकिस्तान से हारने वाले हांगकांग ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया। हांगकांग ने 40 ओवर तक 237 रन दे लिए थे और भारत के दो विकेट ही गिरे थे लेकिन हांगकांग के गेंदबाजों ने अंतिम 10 ओवरों में शानदार वापसी की और मात्र 48 रन देकर भारत के पांच विकेट झटक लिए। शिखर ने अपने 50 रन 57 गेंदों में और 100 रन 105 गेंदों में पूरे किये। उनके आउट होने के बाद भारतीय बल्लेबाज रन गति को बरकरार नहीं रख सके और भारत 300 का आंकड़ा पार करने से दूर रह गया।  शिखर को ऑफ स्पिनर किंचित शाह ने अपना शिकार बनाया। शाह नौ ओवर में 39 रन पर तीन विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज रहे। शाह ने दिनेश कार्तिक और भुवनेश्वर कुमार को भी आउट किया। रोहित ने 22 गेंदों पर 23 रन में चार चौके लगाए। रायुडू ने 70 गेंदों पर 60 रन की पारी में तीन चौके और दो छक्के लगाए। कार्तिक ने 38 गेंदों पर 33 रन में तीन चौके लगाए। पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी तीन गेंदों पर खाता खोले बिना ऑफ स्पिनर एहसान खान का शिकार बन गए। भुवनेश्वर नौ रन बनाकर और शार्दुल ठाकुर खाता खोले बिना आउट हुए। केदार जाधव ने विकेटों के पतन के बीच एक छोर संभल कर खेलते हुए 27 गेंदों पर एक छक्के की मदद से नाबाद 28 रन बनाये। हांगकांग की तरफ से शाह ने 39 रन पर तीन विकेट, एहसान ने 65 रन पर दो विकेट, एहसान नवाज ने 50 रन पर एक विकेट और एजाज खान ने 41 रन पर एक विकेट लिया।

Share This Post

Post Comment