फिस जमा न होने पर लखनऊ के स्कूल ने नर्सरी के छात्र को बनाया बंधक

लखनऊ, उत्तर प्रदेश/नगर संवाददाताः दो बच्चों की स्कूल फीस न मिलने पर स्कूल प्रबंधन ने छुट्टी के बाद भी बच्चों को रोके रखा। करीब एक घंटे तक अभिभावक के न आने पर स्कूल प्रबंधन ने एक बच्चे को पिता को बुलाकर लाने को कहा। बच्चे ने घर जाकर पिता को बताया कि फीस न मिलने के कारण भाई को स्कूल में रोक लिया गया है। भाग कर स्कूल पहुंचे पिता को बच्चे को छुड़ाने के लिए पुलिस की मदद लेनी पड़ी। पीड़ित पिता ने मामले की शिकायत खुर्रमनगर थाने में की है। मामला इंदिरा नगर क्षेत्र के चांदना का है। क्षेत्र निवासी मो. नदीम के बच्चे हारिश (4) व अशद (5) नर्सरी कक्षा में पढ़ते हैं। नदीम की आर्थिक स्थिति अनुकूल न होने के चलते बीते छह माह से वह दोनों बच्चों की फीस नहीं जमा कर सके। इस बात को लेकर स्कूल ने मंगलवार को हारिश और अशद को छुट्टी के बाद भी बैठाए रखा। फीस के बाबत नदीम से फोन पर संपर्क न होने पर स्कूल ने एक बच्चे को घर भेज पिता को बुलाकर साथ लाने के लिए कहा। घर पहुंचकर बच्चे ने आपबीती घर वालों को बताई। कहासुनी के बाद भी बच्चे को न छोड़ने पर नदीम ने मामले की सूचना डायल 100 पर दी। मौके पर पहुंची पुलिस के हस्तक्षेप के बाद स्कूल ने बच्चे को जाने दिया। इस बावत खुर्रम नगर चौकी इंचार्ज संतोष कुमार का कहना है कि मो. नदीम की ओर से सूचना मिली थी कि स्कूल द्वारा बच्चे को रोके रखा गया है। उनके स्कूल पहुंचने पर सभी बच्चे घर जा चुके थे। वहीं स्कूल प्रबंधक अतर सिद्दीकी का कहना है कि ठंड के चलते स्कूल के समय में परिवर्तन किए जाने व परीक्षा समाप्ति की जानकारी देने के लिए सभी अभिभावकों को रोजाना बुलाया जा रहा है और नदीम को भी बुलाया गया था। मो. नदीम ने करीब छह माह से बच्चों की फीस नहीं दी है। इस कारण वह ऐसे आरोप लगा रहे हैं। मो. नदीम ने स्कूल प्रिंसिपल से भी अभद्रता की। बच्चे को रोके जाने का आरोप गलत है।

Share This Post

Post Comment