छावनी परिषद क्षेत्र में मजदूरों का हो रहा शोषण

रामगढ़, झारखंड/रवी अग्रवालः छावनी मैदान में रविवार को परिषद के सफाइकर्मियों की बैठक झारखंड असंगठित मजदूर यूनियन के बैनर तले बैठक हुई। बैठक में बड़ी संख्या में परिषद क्षेत्र के सफाइकर्मियों ने यूनियन की सदस्यता ली। बैठक को संबोधित करते हुए भाकपा मंडल सदस्य महेंद्र पाठक ने कहा कि छावनी परिषद क्षेत्र में महजदूरों का शोषण हो रहा है। कहा कि मजदूर दैनिक मजदूरी पर काम करता है। जबकि झारखंड सरकार की मजदूरी 276 रुपया प्रतिदिन है। केंद्र सरकार की मजदूरी 437 रुपया प्रतिदिन आता है। कहा कि मजदूरों से ईएसआइ व ईपीएफ की कटौती की जाती है, इसका किसी तरह का पहचान पत्र मजदूरों को नहीं दिया जाता है। इससे स्पष्ट होता है कि मजदूरों का शोषण चरम पर हो रहा है। झारखंड राज्य किसान सभा सचिव मंगल ¨सह ओहदार ने कहा कि छावनी परिषद के अधिशासी अधिकारी इस मामले में हस्तक्षेप कर समस्याओं का समाधान करें। साथ ही जिस तरह मजदूर काम करते चले आ रहे हैं उसी तरह से काम कराने की बात कहीं। बैठक में अध्यक्ष गजानंद राम, सचिव धीरज राम, उपाध्यक्ष रंजीत राम, इंद्रजीत राम, उप सचिव लालबाबू, मंटू राम का चयन किया गया। बैठक में 11 सदस्यीय कमेटी का भी गठन करते हुए भरथ राम, रूस्तम राम, ¨पटू राम, राजा राम व सूरज का भी चयन किया गया।

Share This Post

Post Comment