हमीरपुर के बंद घर में पांच लाशें पड़ी मिलने से सनसनी और दहशत

हमीरपुर, हिमांचल प्रदेश/नगर संवाददाताः बंद पड़े मकान में एक ही परिवार के पांच लोगों के शव मिले। शव सडऩे की वजह से उनसे बदबू आ रही थी। शुक्रवार देर शाम को आई आंधी के दौरान दरवाजा खुलने से बदबू चारों ओर फैली तो लोगों को घटना की जानकारी हुई। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां खासी भीड़ एकत्र हो गई। हमीरपुर के मौदहा कस्बे में शव मिलने को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं। मूलरूप से थाना सिसोलर के पासुन गांव निवासी चंद्रपाल सिंह चंदेल उर्फ फट्टी सिंह (75) विगत करीब 25 साल से कस्बे के पूर्वी तरौस मोहल्ले में गुड़ाही बाजार में रहते थे। उनके कोई पुत्र नहीं थे। उनके साथ विकलांग पत्नी दाई (73), पुत्री रानी (40) नातिन रामलली (20) व उसकी छह माह की पुत्री रहती थी। चंद्रपाल गांव की जमीन बेचकर जीवन यापन कर रहे थे। पुत्र न होने के गम में वह शराब के लती हो गए थे। पिछले कई दिनों से उनका मकान बंद था। देर शाम चंद्रपाल के मकान की तीसरी मंजिल पर स्थित कमरे का दरवाजा तेज आंधी के कारण खुल गया। इससे मकान के अंदर की बदबू फैली तो लोगों को कुछ शक हुआ। बगल के मकानों से लोगों ने ताकाझांकी की तो लोगों को एक शव दिखा। इस पर पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर कोतवाल अनिल फोर्स के साथ पहुंचे। ताला तुड़वाकर उन्होंने घर के गेट खुलवाए और ऊपर पहुंचे। मौके पर पुलिस अधीक्षक अशोक त्रिपाठी पहुंचे। उन्होंने बताया कि अलग-अलग कमरों में पांच शव मिले हैं। शव कई दिन पुराने लग रहे हैं। घर में खाने की थाली भी पड़ी मिली है। शवों का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। इसके अलावा फोरेंसिंक जांच कराई जा रही है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

Share This Post

Post Comment