मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपने बचे हुए कार्यकाल में ‘नायक’ फिल्म के अनिल कपूर की भूमिका में आ गए

लखनऊ, युपी/अशोकः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपने बचे हुए कार्यकाल में ‘नायक’ फिल्म के अनिल कपूर की भूमिका में आ गए है। जिसमें अनिल कपूर को एक बेहतर और अमरीश पुरी को एक भ्रष्ट मुख्यमंत्री के रूप में दिखाया गया था। उसी स्टाइल में काम करते हुए मुख्यमंत्री अखिलेष चाहते हैंकि उनके कार्यकाल में जो कार्य शुरू हुए हैं वे पूरे हो जाएं। जिससे आने वाले विधानसभा चुनाव में उन्हें उसका लाभ मिल सके। मुख्यमंत्री की योजनाओं को समय से पूरा करने के लिए मुख्य सचिव आलोक रंजन ने सभी विभागों को निर्देश दिए हैं कि अधूरे कार्यों को जल्द से जल्द पूरा किए जाएं। इसके साथ ही सभी विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को भी समय से कार्यालय आने के निर्देश भी दिए गए हैं। आॅफिस लेट पहुंचने पर कटेंगी छुट्टियांसाथ ही सरकार ने हमेश लेट से आॅफिस पहुंचने और काम समय पर न करने वाले कर्मचारियों पर नकेल लगाने का भी इंतजाम कर दिया है। नए फरमान के अनुसार यदि कर्मचारी दस मिनट से अधिक विलंब से तीन दिन तक पहुंचता है तो कर्मचारी का अर्जित व आकस्मिक अवकाश काट लिया जाएगा। दोनों ही अवकाश खत्म होने पर पंद्रह दिन तक बिना वेतन अवकाश पर माना जाएगा। पंद्रह दिन के पश्चात संबंधित कार्मिक के विरुद्ध अनुशासनिक कार्यवाही प्रारंभ करने के निर्देश दिए जाएंगे। एलडीए में लागू की गई नई व्यवस्थाइस व्यवस्था को सबसे पहले लखनऊ विकास प्राधीकरण (एलडीए) में लागू किया जा रहा है। एलडीए ने आदेश भी जारी कर दिया है कि दो मई से जो कामचोरी करेगा या लेटलतीफी से कार्यालय पहुंचेगा विभाग ऐसे कर्मियों से सख्ती से निपटेगा। एलडीए सचिव श्रीश चंद वर्मा द्वारा जारी किए गए आदेश में स्पष्ट हैकि फील्ड में तैनात अभियंताओं एवं अन्य फील्ड स्टाफ की सुबह की उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी, लेकिन दिन में कार्यालय में आते ही बॉयोमीट्रिक के जरिए उपस्थिति दर्ज करवानी होगी।बॉयोमीट्रिक से दर्ज करानी होगी उपस्थितिजो अभियंता कार्यालय में तैनात हैं उन्हें अन्य कर्मियों की तरह सुबह 10 बजे आना होगा। उन्होंने कहा कि जनसुविधा केंद्र में तैनात अभियंताओं व कर्मियों की मनमर्जी चल रही है। चाहे वह इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान हो या फिर अन्य सामुदायिक केंद्र। यहां निर्देश के बाद भी बॉयोमीट्रिक अटेंडेन्स की व्यवस्था सुनिश्चित नहीं की गई है। वर्मा ने जनसुविधा केंद्र में भी बॉयोमीट्रिक प्रणाली लगाने के निर्देश दिए हैं।

Share This Post

Post Comment