मानसिक तनाव डस रहा छात्रों का भविष्य

जयपुर, कोटाः देश के कोचिंग हब कोटा में छात्र अपना हर दिन डिप्रेशन में गुजारने को मजबूर हो रहे हैंे। रविवार को उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद की रहने वाली छात्रा ने आत्महत्या कर ली । एक माह के दौरान आत्महत्या की चैथी घटना है। घटना का पता तब लगा जब उसकी एक दोस्त उसको लेने उसके होस्टल आई। सुसाइड नोट के आधार पर प्रथम दृष्टतया पुलिस आत्महत्या का कारण पढ़ाई का तनाव मान रही है। पुलिस ने मृतका का शव एपबीएस अस्पताल के पोस्टमार्टम रूम में रखवाकर परिजन को सूचना दे दी है। पोस्टमार्टम सोमवार को होगा।
जवाहर नगर पुलिस ने बताया कि मुरादाबाद निवासी अंजलि आनंद (18 साल) पुत्री अशोक कुमार राजस्थान के कोटा स्थित राजीव गांधी नगर के एक हाॅस्टल में रहकर प्री-मेडिकल का कोचिंग कर रहीं थी। सुबह सात बजे कोचिंग संस्थान में उसका एक क्लास टेस्ट भी था। लिहाजा, उसकी एक दोस्त उसको लेने हाॅस्टल आई जब उसने दरवाजा खटखटाया तो अंजलि ने अपना रूम नहीं खोला थोड़ी देर रूकने के बाद वह चली गई, लेकिन जब यह बात हाॅस्टल संचालक को पता चली तो उन्होनें उसे कई बार फोन किया। अंजलि ने फोन नहीं उठाया। कमरे का दरवाजा न खोलने पर खिड़की की कुंडी तोड़नी पड़ी। जब खिड़की खुली तो सबके होश उड़ गए। अंजलि ने सामने वाली खिड़की पर चुन्नी का फंदा लगा कर सुसाइड कर लिया था। पुलिस तथ्यों और घटना स्थलों पर मिले सबूतो के आधार पर जांच कर रही है।

Share This Post

Post Comment