स्कूल भवन क्षतिग्रस्त होने से अभिभावकों में डर का माहोल, बच्चों को विद्यालय भेजना भी किया बंद’ सागर

मध्यप्रदेश/सागर, हेमंत आथिया : ग्राम पंचायत गिरवर स्थित शासकीय हाई विद्यालय भवन क्षतिग्रस्त होने से अभिभावकों में डर का माहोल है। वहीं कई लोगों ने अपने बच्चों को विद्यालय भेजना भी बंद कर दिया हैं। इससे विद्यालय की छात्र संख्या में गिरावट आ रही है। शासकीय हाई विद्यालय गिरवर का भवन क्षतिग्रस्त हो गया है। छत से पानी टपकता है। वहीं दिवारो, छत में जगह-जगह दरारे पड़ चुकी है। इससे उसके गिरने का खतरा बना हुआ है। भवन क्षतिग्रस्त होने के कारण वहां अभिभावकों ने बच्चों को भेजना बंद कर दिया है। वहीं ग्राम पंचायत गिरवर के पूर्व सरपंच श्री रतिराम कुर्मी, तात्कालिक सरपंच कुसुमरानी आदिवासी, बिहारी आदिवासी, मन्नू खा, गंगाराम कुर्मी, दरयाव कुर्मी एवम कई ग्रामीणों लोगों ने बताया कि भवन की स्थिति जर्जर हो चुकी है। कभी भी क्षति ग्रस्त हो सकता है, और बड़ी से बड़ी घटना घटित हो सकती है, आपको बता दे की विद्यालय का निर्माण कार्य पूर्ण 2012-13 में हुआ था वहीं विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य श्री ओ पी सेन द्वारा बताया गया कि विद्यालय में 450 से अधिक छात्र छात्राएं अध्ययनरत है, विद्यालय भवन की छत जगह जगह से चू रही है, दिवालो में दरारे आ गई है बच्चो को बैठने को पर्याप्त जगह न होने से विद्यालय को दो पालियों में लगाया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर विद्यालय की सुरक्षा के लिए शासन द्वारा बाओड्री बाल निर्माण किया गया था जो अधूरा पड़ा हुआ है जिसमें भी दारारे आ गई है कभी भी ढह सकती है, इस संबंध में प्रभारी प्राचार्य से बात की गई तो बताया गया कि विद्यालय को ग्राम पंचायत गिरवर द्वारा 6 एकड़ भूमि आवंटित की गई है जिस पर कुछ ग्राम वासियों का अवैध कब्जा है जिसके सीमांकन के लिए मेरे द्वारा अनुविभागीय अधिकारी राजस्व विभाग सागर को विगत वर्ष आवेदन पत्र के माध्यम से सीमांकन की माग की गई थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई जिससे बाउंड्री वाल निर्माण कार्य अधूरा पड़ा हैI

Share This Post

Post Comment