वसई विरार शहर महानगरपालिका के भ्रष्टाचार व घोटाले के खिलाफ 46 दिन चल रहा आन्दोलन

मुंबई/महाराष्ट्र,नजीर मुलाणी : वसई..आरटीआई कार्यकर्ता किसनदेव गुप्ता पिछले 28 मई से पंचवटी नाका वसई बेस्ट मे धरना आन्दोलन पर बैठे थे
वी.वी.एम.सी के घोटाले और भ्रष्टाचार के खिलाफ जो 46 दिन तक चला था
जिसके बाद व.वि.श.मनपा के आला अधिकारी कुभंकरण के निंद से जागे और
वी.एम.एम.सी आयुक्त श्री बी जी पवार के आदेश पर अतिरिक्त आयुक्त श्री संजय हेरवडे, उप आयुक्त श्री डां किशोर गवस, प्रभाग समिती ‘एच.प्र.सहा. श्री-ग्लिसन घोन्साल्वीस, प्रभाग समिती ‘‘जी’’ प्र.सहा. आयुक्त श्री सुभाष जाधव, प्रभाग समिती ‘आय’ प्र. सहा. आयुक्त श्री मनोज वनमाली, अतिक्रमण अभियंता प्रभाग समिती ‘डी’ श्री दिलिप बुक्कन, अतिक्रमण अभियंता प्रभाग समिती ‘जी’ श्री अमोल राऊत, अतिक्रमण लिपिक प्रभाग समिती ‘जी’ श्री दिनेश सुहांगे, विधी सल्लागार अँड. स्वाती देसाई के उपस्थित मे एक लम्बी चर्चा चलने बाद लिखित आश्वासन पर धरना आन्दोलन स्थगित हुआ था।
आन्दोलन कर्ता की मांग थी
1 नालासोपारा लिंक रोड स्थित गैलेक्सी रेशिडेन्सी नामक होटल पर कार्यवाही हो।
कारण उक्त इमारत को रहिवासी परमिशन (सी.सी.) जी प्लस 6 का मिला था
किन्तु विकासक ने पुरी इमारत वाणिज्य बना कर एक माला व ग्राऊंड फ्लोर पर अवैधबाधकाम कर दिया
जिसको मा. हाईकोर्ट का 17 अप्रैल 2017 को आदेश है वी.वी.एम.सी के नगर रचना विभाग को की जांच कर कार्यवाही करे और तीन माह मे मा. हाईकोर्ट को रिपोर्ट सौपे।
किन्तु मा. हाईकोर्ट के आदेश का पालन नगर रचना विभाग के उपसंचालक संजय जगताप ने नही किया।
जिस कारण आज भी इमारत खडी है
मा. हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद वसई दिवानी कोर्ट मे स्टै कैसे मिला। ऐ एक बहुत बडा सवाल है।
2 वसई ईस्ट का विवादित ग्रिष्मा गाडंन नामक इमारत के कंपाउंड मे अवैध बंगला, अवैध शादी का हाल, अवैध सविस सेन्टर (गैरेज) जिस पर कार्यवाही की मांग।
कारण मा. हाईकोर्ट मे केश होने के बावजूद अवैधबाधकाम हुआ है
जो कि 2011 मे मा. हाईकोर्ट के आदेश पर विकासक भिखमचंद सिसोदिया के कई साथी सहित कई सरकारी अधिकारियों पर फोरजरी का मामला दर्ज है माणिकपुर पुलिस स्टेशन मे।
मा. हाईकोर्ट मे मामला होने के वावजूद भिकमचंद सिसोदिया ने कोर्ट के आदेश को अनदेखा करते हुए उक्त अवैधबाधकाम किया।
3 गोखिवरे मे शाह नामक विकासक ने जी प्लस 4 माला का परमिशन (सी.सी) लिया था लांज हेतु लेकिन पांचवा माला भी ठोक कर पार्टी हाल बनाया है और ग्राऊंड फ्लोर पर भी अवैधबाधकाम किया तथा 7 गाला को तोड कर एक कर कृष्णा उडपी नामक रेस्टोरेंट चालू कर दिया।
मेरे आन्दोलन करने पर उक्त सभी मुद्दों पर कार्यवाही करने का आदेश मनपा के अतिरिक्त आयुक्त, उप आयुक्त ने संबंधित प्र. सहायक आयुक्त को दिया है।
4 वसई पश्चिम दिवानमान सवंधर्मिय दफनभुमी मे हुए आवंटन तथा बाधकाम और नियोजन के बाद हुयी तोडक कार्यवाही सबुत है
अनियमता और भ्रष्टाचार का….
इसकी शिकायत देने के बाद भी कानुनी कार्यवाही करने मे (मनपा और पुलिस) अधिकारी कतरा रहे है यह दुःखद है
46 दिन के धरना प्रदर्शन आन्दोलन के बाद दोबारा 22 जुलाई से पुलिस उप अधीक्षक कार्यालय (वसई) के बाहर धरना प्रदर्शन आन्दोन सुरू है
माणिकपुर पुलिस जनता के पैसे के दुरूपयोग को मानते हुए भी कार्यवाही नही कर रही है, यह मामला गंभीर है….
घोटाले का सबुत है इसमे।
सावधान
अगर उक्त अवैधबाधकाम विकासको से कोई भी किसी प्रकार का व्यवहार(खंडनी) मेरे नाम पर करता है तो कृपया उसका आधारकार्ड जांच ले नही तो उसका जबाबदार विकासक और खंडनी लेने वाला होगा
उसमे मेरा किसी प्रकार का कोई संबंध नही है।
विकासक खंडनी लेने वाले को रंगे हाथ पुलिस को दे या पुलिस मे शिकायत करे।
आन्दोलन कर्ता
किसनदेव गुप्ता

WhatsApp Image 2019-07-27 at 5.28.48 PM

Share This Post

Post Comment