पुलिस थाना पीसांगन को प्राप्त गोपनीय शिकायत के आधार गिरफ्तार

Ramakrishna  p

नागौर/राजस्थानः रामकृष्णः पुलिस थाना पीसांगन को प्राप्त गोपनीय शिकायत के आधार पर प्रस्तुत इस्तगासा अन्तर्गत धारा 13(1) बाल विवाह प्रतिशेध अधिनियम न्यायालय में पेश हुआ, जिसकी सुनवाई डाॅ. विमल व्यास, न्यायिक मजिस्ट्रेट, पुष्कर ने की। शिकायत के अनुसार आरोपीगण मृत्युभोज की आड़ में बाल विवाह कराने हेतु आमादा थे एवं मृत्युभोज की चिट्ठी, जिसमें हंजा देवी का निधन हो जाने पर शीशी पूजन एवं मृत्यु भोज कराये जाने की जानकारी प्राप्त हुई। जिस पर पुलिस थाना पीसांगन के द्वारा आरोपीगण गुमान पुत्र छोगा, भंवरी पत्नी गुमान, दुर्गा पुत्र छोगा, तेजा पुत्र छोगा, ढगली पत्नी दुर्गा, शांति पत्नी तेजा व पुखराज पुत्र छोगा समस्त जाति रेबारी निवासी मुकुन्द जी की ढाणी ग्राम रिछमालिया, पुलिस थाना पीसांगन, जिला अजमेर को न्यायालय में पेश किया गया। न्यायिक मजिस्ट्रेट, पुष्कर डाॅ. विमल व्यास ने उक्त आरोपीगण को भविष्य में बाल विवाह एवं मृत्युभोज नहीं कराने बाबत् पाबन्द किया एवं उनसे इस सम्बन्ध में शपथ-पत्र भी लिए तथा भविष्य में इस प्रकार की कुरीतियों के चलन को रोकने के लिए उपखण्ड अधिकारी, पुष्कर एवं पीसांगन तथा तहसीलदारए पुष्कर एवं पीसांगन को सख्त कार्यवाही करने के आदेश प्रदान किये। दिसंबर माह में विद्युत करेन्ट से बाघ को मारकर फरार आरोपी सलिन बसदेवा पिता विजय शंकर वसदेवा की फरारी स्थान की पतासाजी कर मुखबिर की सहायता से पकडकर गिरफ्तार कर न्यायालय मानपुर में पेस करने के बाद जिला जेल उमरिया भेजा गया इसके विरुद्ध पीओआर नंबर 351/13 पंजीबद्ध था। इस प्रकरण में श्री एकेजोशी मुख्य वन संरक्षक एवं क्षेत्र संचालक बांधवगढ़ का निर्देशनएउप संचालक श्रीगुप्ता साब, उप वन मंडलाधिकारी श्री एके शुक्ला के मार्गदर्शन मे वनपरिक्षेत्र अधिकारी श्री व्हीके ज्योतिषी के द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। टीम मे श्री बाबूलाल काक्षी वनपाल, श्री अनिल सोनवानी, श्रीपुष्पेन्द मिश्रा, श्री सुरजीत महोबिया, श्री विजय तिवारी तथा सुरक्षा श्रमिक भी थे।

Share This Post

Post Comment