शिवराज के बेटे पर आरोप के बाद राहुल गांधी ने मानी गलती, कहा- कन्फ्यूज हो गया था

22

नई दिल्ली, जयदेव पटेल : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश की रैली में 15 साल से मुख्यमंत्री रहे शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय पर पनामा घोटाले में शामिल होने का आरोप लगाए थे। जिसको लेकर शिवराज और उनके बेटे कार्तिकेय काफी आक्रामक हो गए। दोनों ने राहुल के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करने का भी दावा किया। शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय ने तो राहुल गांधी को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि 48 घंटे में अगर उन्होंने माफी नहीं मांगी तो मैं उन पर कठोरतम कानूनी कार्यवाही के लिए बाध्य हो जाऊंगा। जिसके बाद राहुल गांधी बैकफुट पर आ गए और उन्होंने 24 घंटे के अंदर ही आपने बयान से पलटना पड़ा। राहुल गांधी की तरफ से सफाई आ गई है। मध्य प्रदेश में ही पत्रकारों के साथ इन्फॉर्मल बातचीत के बीच राहुल ने कहा कि मध्य प्रदेश और भाजपा शासित राज्यों में इतने ज्यादा घोटाले हुए हैं कि वह कन्फ्यूज़ हो गए थे। राहुल ने लगाया शिवराज के बेटे पर आरोप सोमवार को झाबुआ में एक जनसभा को संबोधित करते समय राहुल ने कहा की, ‘मामाजी के जो बेटे हैं, पनामा पेपर्स में उनका नाम निकलता है। पाकिस्तान में पूर्व पीएम नवाज शरीफ का नाम पनामा लीक में आया, तो पाकिस्तान जैसे देश में उनको जेल भेज दिया गया। मगर यहां मुख्यमंत्री का बेटा का नाम पनामा पेपर्स में निकलता है तो कोई कार्रवाई नही की जाती है।’ शिवराज का ट्वीट- करेंगे मानहानि का केस वहीं राहुल के राजनीतिक भाषण में अपने बेटे का नाम को घसीटने पर शिवराज सिंह बहुत नाराज़ हो गए है। राहुल की बयानबाजी से तिलमिलाए शिवराज सिंह चौहान ने आधी रात को ट्वीट कर कहा कि वे मंगलवार को राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेंगे। मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा की, ‘पिछले कई वर्षों से कांग्रेस मेरे और मेरे परिवार के ऊपर अनर्गल आरोप लगा रही है। हम सबका सम्मान करते हुए मर्यादा रखते हैं, लेकिन आज तो राहुल गांधी जी ने मेरे बेटे कार्तिकेय का नाम पनामा पेपर्स में आया है कहकर, सारी हदें तोड़ दी है। कल (मंगलवार) ही हम उन पर मानहानि का दावा कर रहे हैं।’ भाजपा ने भी राहुल को घेरा  मुख्यमंत्री के बेटे पर आरोप लगाना बीजेपी को भी रास नहीं आया और उसने भी कांग्रेस और राहुल गांधी का जमकर हमला बोला। भाजपा विधायक और राज्य में मंत्री विश्वास सारंग ने राहुल के बयान पर पलटवार करते हुए कहा ‘पप्पू गांधी के साथ दिक्कत यही है कि वो लिखा हुआ भाषण ही पढ़ते हैं और परीक्षा गणित की होती है, लेकिन याद हिंदी कर के आते हैं, इसी वजह से तो पप्पू फेल होता है।’ उन्होंने आगे कहा कि बात कहीं की है कहीं पहुंचा जाते हैं। उनको राजनीति की ना  तो एबीसीडी आती है ना धरातल से वाकिफ है। जैसे बड़े घराने के बच्चों को सिखाया जाता है। वैसे कोई पीआर कंपनी राहुल गांधी को भी सिखा देती है।’

Share This Post

Post Comment