मुखिया के घर में, घुस कर अंधाधुंध फायरिंग, 1 की मौत, 3 की स्थिति नाज़ुक

गोपालगंज, शुभम सिंह : राजद समर्थित मुखिया को घर में घुसकर जहां गोली मार दी गयी वही हथियार बंद अपराधियो ने मुखिया, उनके दो बेटो और पत्नी को गोलियों से भुन दिया जिसमें मुखिया के बेटे 35 वर्षीय सत्येन्द्र यादव की अस्पताल में मौत हो गयी मुखिया का नाम महातम चौधरी है वे उचकागांव प्रखंड के बलेसरा पंचायत के मुखिया है। घटना मुखिया के पैत्रिक गाँव पिडरा की है। घटना की वजह राजनीतिक साजिश बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक बलेसरा पंचायत के दबंग मुखिया अपने पिडरा स्थित घर के कैंपस में परिवार के साथ बैठे थे। इसी दौरान बाइक पर सवार हथियार बंद अपराधी घर में घुसकर अंधाधुंध फायरिंग करने लगे। फायरिंग में मुखिया महातम चौधरी, उनकी पत्नी प्रभावती देवी, बेटा सत्येन्द्र यादव और नागेन्द्र यादव गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी घायलों को सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया है। जहां ईलाज के दौरान मुखिया के बेटे सत्येन्द्र यादव की मौत हो गयी। जबकि गंभीर रूप से जख्मी मुखिया उनके बेटे और उनकी पत्नी को बेहतर इलाज के लिए गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया गया है। उन दोनों की हालत नाजुक बनी हुई है जबकि बेटे नागेन्द्र यादव के हाथ में गोली लगी है। नगर इंस्पेक्टर संजय कुमार का कहना है की बाइक पर सवार अपराधियो ने घटना को अंजाम दिया है। जिसमे एक की मौत और तीन लोग जख्मी हो गए है। घटना के बाद पूरे इलाके की नाकाबंदी कर दी गयी है। हर तरफ अपराधियो की पहचान के लिए फ़ोर्स को तैनात कर दिया गया है।वही घटना की सुचना मिलते ही हथुआ के जदयू विधायक रामसेवक सिंह सदर अपस्ताल पहुँचे उन्होंने घटना की निंदा करते हुए कहा कि इस घटना में जो भी अधिकारी शामिल जिनकी लापरवाही उजागर हो रही है उनके खिलाफ कड़ी कारवाई की जाये। साथ ही अपराधियो की पहचान कर उन्हें जल्द से जल्द सजा दिलाई जाए। इस घटना की राजद जिलाध्यक्ष व पूर्व विधायक रियाजुल हक़ राजू ने कड़ी शब्दों में निंदा करते हुए कहा की सरकार में राजद समर्थित लोगो और मुखिया को निशाना बनाया जा रहा है उनकी हत्या अत्याधुनिक हथियार से की गयी है। यह एक राजनीतिक साजिश के तहत हत्या है। जल्द से जल्द अगर अपराधियो की पहचान कर गिरफ़्तारी नहीं हुई तो राजद उग्र आन्दोलन केरगा। हर हाल घटना के बाद सदर अस्पताल में अफरातफरी का माहौल है यहां घटना के बाद आक्रोशित लोग उग्र हो गए और प्रशासन के खिलाफ उग्र प्रदर्शन भी किया।

Share This Post

Post Comment