किसानों की आय दोगुनी करने के लिए जागरूक सम्मेलन

 

111

मोहाली (कुराली), गुरसेवक गुरी : जागरूक सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य किसानों को सहायक व्यवसाय के लिए प्रेरित करना है। डॉक्टर परमिंदर सिंह भारत सरकार के हिदायत अनुसार श्रीमती गुरप्रीत कौर सपरा डिप्टी कमिश्नर के दिशानिर्देश अनुसार किसानों की आमदनी दोगुनी करने के संबंधी ग्राम स्वराज अभियान के तहत ब्लाक माजरी के गांव फतेहगढ़ में किसान कल्याण कार्यशाला सम्मेलन करवाया गया। इस मौके पर भारत सरकार की ओर से आए नुमाइंदे डॉ रणवीर सिंह जॉइंट डायरेक्टर सरबजीत सिंह कंधारी संयुक्त डिरेक्टर और सिखलाई, स्टेट नोडल अफसर आत्मा की ओर से किसानों की कार्यशाला सम्मेलन का दौरा किया गया। जिले में खेती-बाड़ी और सेंटर की चल रही योजनाओं संबंधी यह जायजा लिया गया । इस सम्मेलन की शुरुआत भारत सरकार द्वारा जारी किए गए टाइटल गीत के साथ की गई। जिसमें किसानों की आमदनी दोगुनी करने का संदेश दिया गया है। इस मौके पर सरदार परमिंदर सिंह मुख्य खेतीबाड़ी अफसर ने बताया कि किसानो  को रिवायती खेती में से निकालकर और  व्यवसाय के लिए प्रेरित करना है ताकि किसानों की आमदनी में बढ़ावा हो सके और उनका आर्थिक स्तर ऊंचा उठाया जा सके। इस कैंप में डॉक्टर मनीष शर्मा सहायक प्रोफेसर केवीके बागवानी ने सावन की ऋतू में फलदार पौधों को आने वाली बीमारियों और उनकी रोकथाम संबंधी विस्तारपूर्वक जानकारियां दी। डॉ विकास फुलिया सहायक प्रोफेसर मछली पालन केवीके ने कैंप में आए किसानों को मछली पालन के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी ताकि किसानों के लिए सहायक धंधे के साथ अपनी आमदनी  में बढ़ावा किया जा सके। डॉ नवदीप सिंह खेतीबाड़ी अफसर ने सावन सीजन की फसलों को  आने वाली बीमारियां और उनके रोकथाम के बारे में जानकारी दी। इस सम्मेलन में श्रीमती प्रभमनिंदर कौर ने भारत सरकार की स्कीम के बारे में जानकारी दी और बताया कि सहायक व्यवसाय अपना कर हम अपना आर्थिक स्तर ऊंचा उठा सकते हैं। अफसरों ने इस सम्मेलन में किसानों को पशुओं की अच्छी सेवा संभाल और समय-समय पर पशुओं को टीका करने संबंधी विस्तारपूर्वक जानकारी दी। संदीप कुमार खेती विकास अफसर ने इस कैंप में किसानों को सूचना और तकनीक किसान कॉल सेंटर, किसान पोर्टल संबंधी जानकारियां दी। डॉ जसविंदर सिंह खेतीबाड़ी विकास अफसर माजरी ने विभाग के अंदर चल रही स्कीमों के बारे में किसानों को जानकारी दी।  इस मौके पर मुख खेतीबाडी अफसर ने किसानों को कनक के साथ इस सीजन में मुख्य फसलें धान की पराली को जलाकर जमीन में दबाने की सलाह दी और पिछले साल द्वारा जिले में किए गए तजुर्बो को भी किसानों के साथ सांझा किया। जिसमें मुख्य खेती-बाड़ी अफसर ने पराली को आग लगाने के बाद वातावरण को होने वाले नुकसान के बारे में भी बताया उन्होंने कहा की पराली और धान की नाड को आग लगाकर जमीन को  बहाने से मिट्टी में  सुधार और बढ़ावा होता है और किसानों ने संतुलित खादों की प्रयोग संबंधी भी बताया गया। खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी लुधियाना की ओर से सिफारिश की दवाइयों का प्रयोग करने के लिए किसान कल्याण कार्यालय में ब्लाक माजरी, स सुखविंदर सिंह गांव शाहपुर, स हरिंदर सिंह गांव झिंगडा को सम्मानित किया गया। इस मौके पर सुखविंदर सिंह ने भारत सरकार के नुमाइंदों को बताया कि आवारा पशुओं के कारण फसलों का काफी नुकसान हो रहा है। इस संबंधी में जल्द कोई हल ढूंढा जाए उन्होंने इस कैंप में आए मुख्य मेहमान और किसानों का धन्यवाद करते हुए खुशी जताई और कहा कि विभाग की ओर से ऐसे कैंप समय-समय पर लगाए जाने चाहिए ताकि किसानों को समय समय पर खेती-बाड़ी और अलग-अलग तरह की जानकारियां प्राप्त हो सके।

Share This Post

Post Comment