इंडियन एयरफोर्स के पूर्व प्रमुख इदरीस हसन लतीफ का निधन

मुंबई/हैदराबाद, नजीर मुलाणी : भारतीय वायुसेना के पूर्व प्रमुख एयर चीफ मार्शल इदरीस हसन लतीफ का मंगलवार को यहां के एक निजी अस्पताल में लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया। वह 94 वर्ष के थे। इदरीस हसन लतीफ ने बंटवारे के बाद पाकिस्तान वायु सेना में शामिल होने के प्रस्ताव को ठुकरा दिया दिया। लतीफ सितंबर, 1978 से अगस्त, 1981 के बीच भारतीय वायुसेना के प्रमुख थे। उन्हें एसपिरेशन निमोनिया की शिकायत के बाद 25 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने महाराष्ट्र के राज्यपाल और फ्रांस में भारत के राजदूत के रूप में भी अपनी सेवाएं दी थी। इंडियन एयरफोर्स की वेबसाइट के अनुसार, मुस्लिम अफसर होने के नाते उन्हें फ़ौज के बंटवारे के वक्त भारत या पाक में से किसी को चुनने का ऑप्शन दिया गया, असगर और नूर खान दोनों ने उन्हें पाकिस्तान वायु सेना में शामिल होने के लिए राजी करने के लिए बुलाया, लेकिन लतीफ ने भारत को चुना और वो पहले मुस्लिम एयरफाॅर्स स्टाफ चीफ बने। बाद में एयर मार्शल असगर खान पाकिस्तान वायुसेना के वायुसेनाध्यक्ष बने। इदरीस हसन लतीफ का जन्म 1923 में हैदराबाद में हुआ था। वह 1942 में रॉयल इंडियन एयर फोर्स में शामिल हुए थे। अम्बाला में ट्रेनिंग पूरी करने के बाद उनको कराची के न. 02 कोस्टल डिफेंस फ्लाइट में भेजा गया जहां उन्होंने अरब सागर पर एंटी-सबमरीन, वैपिटी, ऑडैक्स और हार्ट्स जैसे विमानों की कमान संभालते थे।

Share This Post

Post Comment