राजस्थान राजपूत समाज हेतु सर्व शिक्षा व्यवस्था अभियान।

सिराणा जालोर, कृष्णसिंह राठौड़ : खींवसिह चांपावत बावरली जोधपुर आपसे निवेदन करना चाहता हूं की अब समाज सुधार के हर संभव प्रयास करें हुकम जो समाज हमारे अनुसरण से चलते थे वो आज हमसै आगे है साथीयो हमारे माता पिता ने हमे कितनी मुशकिल से पढाया हम मे से कई साथी अपनी मर्जी से नही पढे हमसे पहली पीढी मजबुरी से अनपढ रही पर आज वो बात नही है हम क्यो भूल रहे अपना फर्ज आज स्कूल मे क्या हो रहा है।शिक्षा व्यवस्था केसी है कभी देखते तक नही साथीयो केवल बच्चे को स्कूल मे भेजने से आपका फर्ज पूरा नही हो जाता पोधा लगा देने से पेङ नही बन जाता समय समय परपानी पिलाकर देख रेख करके पेङ फल देने लायक बनता है दोस्तो शिक्षा और संस्कार हमारे बच्चों के भवीष्य का निखार करेगा लङकी को समझाना हमारा धर्म है जितना ही लङके को संस्कार वान बनाना हमारा फर्ज है और नशा हम सब को त्यागने कि जरूरत है यह समय की मांग है आप राजपुरोहित समाज को देखो इस समाज ने महज 30 वर्ष मे चहूंमुखी विकास किया आज वो बुंलदिया छू रहा है हमे खुशी है पर हमे भी उनकी राह पर चल कर समाज सुधार करना है यै काम किसी एक का नही हम सबका है आप सबसे विन्रम अपील जो समय गया वो नही आ सकता पर ये कीमती समय बर्बाद न करे सब संर्घस करो जीत पक्की होगी।

Share This Post

Post Comment