दुमका में आदिवासियों को भड़काने की कोशिश, सिद्धू कान्हू की प्रतिमा के हाथ में लटकाई सड़ी मछली

lxmi

रिपोर्टर निखिल गोयल झारखंड दुमका-झारखण्ड की राजनीति बद से बदतर होती जा रही है. पत्थलगड़ी की आग अभी शांत भी नहीं हुई है कि असामाजिक तत्वों ने आदिवासी समाज के प्रेरणाहार रहे लोगों की मूर्तियों से खिलवाड़ करना शुरू कर दिया है. दुमका में ऐसा ही एक मामला सामने आया. रविवार को पोखरा चौक स्थित शहीद  सिद्धू कान्हू की प्रतिमा देखते ही लोगों में आक्रोश भर गया. दरअसल, किसी ने शहीद के हाथों में गंदे कपड़े में सड़ी मछली डालकर लपेट दिया था. ये खबर आग की तरह फ़ैल गई और लोगों ने गुस्से में सात घंटे के लिए दुमका-पाकुड़ मार्ग जाम कर दिया. इस कारण लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा.

प्रशासन ने करवाई सफाई -मामला संज्ञान में आते ही प्रशासन एक्टिव हुआ और नगर परिषद ने प्रतिमा की साफ़ सफाई करवाई. पुलिस के अफसरों ने आकर रोड जाम किये लोगों को समझाया. आश्वासन दिया कि इस घटना को अंजाम देने वालों को जल्द से जल्द सजा दी जाएगी. उन्होंने कहा कि दोषियों को अगले 48 घंटे के अन्दर पकड़ लिया जाएगा. तब जाकर लोगों ने सड़क खाली किया. अब पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगालेगी.

मूर्ति का हुआ शुद्धिकरण -जाम हटने के बाद स्थानीय आदिवासी युवकों ने शहीद की प्रतिमा का शुद्धिकरण करवाया. पारम्परिक तरीके से पूजा-पाठ की गई और दूध से नहलाकर प्रतिमा को शुद्ध किया गया.

Share This Post

Post Comment