उत्तराखंड के पहाड़ों में बर्फबारी, मैदानी इलाकों में शीत लहर की चेतावनी

देहरादून, उत्तराखंड/नगर संवाददाताः देवभूमि में मौसम का मिजाज बदल रहा है। समूचा राज्य पहले ही जबदस्त शीतलहर की चपेट में है और अब अगले 24 घंटे में उत्तराखंड के पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी की संभावना जताई जा रही है। जबकि, मैदानी क्षेत्रों में कोहरे के कारण शीत दिवस की चेतावनी जारी की गई है। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्वानुमान के मुताबिक अगले 24 घंटों में उत्तरकाशी, चमोली और पिथौरागढ़ जिलों में कहीं-कहीं विशेषकर ऊंचाई वाले स्थानों पर हल्की बारिश व बर्फबारी होने की संभावना है। जबकि, अन्य जनपदों में मौसम शुष्क रहेगा। मौसम विभाग ने अग्रिम चेतावनी जारी करते हुए बताया कि राज्य के मैदानी क्षेत्रों में अगले 48 घंटों में कहीं-कहीं घना कोहरा छाया रहेगा। हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर जनपदों में अगले 48 घंटों में कहीं-कहीं शीत दिवस रहने की संभावना है। यहां घने कोहरे के चलते न्यूनतम तापमान पांच से नीचे एवं अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहने से कड़ाके की ठंड पड़ सकती है। जिसे ‘शीत दिवस’ कहा जाता है। उधर, चारधाम बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री एवं यमुनोत्री समेत ऊंची चोटियों पर तीन दिन पूर्व हुए हिमपात के कारण निचला इलाका कड़ाके की ठंड की चपेट में है। अल्मोड़ा का न्यूनतम तापमान शून्य से तीन डिग्री नीचे (-3) डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। जबकि, जोशीमठ का 1.7, टिहरी का 3 व नैनीताल का 4.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। कड़ाके की ठंड का जिक्र आते ही तन में सिहरन दौड़ जाती है। ऐसे में गुनगुनी धूप का दीदार हो जाए तो कहने ही क्या। ऐसा ही नजारा है इन दिनों उत्तराखंड की पहाड़ियों का। एक ओर पूरा उत्तर भारत कड़ाके की ठंड और घने कोहरे की चपेट में है, वहीं उत्तराखंड के पहाड़ों में गुनगुनी धूप खिलखिला रही है। यही वजह है कि मैदानी इलाकों की सूखी ठंड से बचने के लिए लोग इन दिनों पहाड़ों का रुख कर रहे हैं।

Share This Post

Post Comment