गेहूं के लिए आसमान से बरस रही राहत, बेहतर पैदावार के संकेत

यमुनानगर, हरियाणा/नगर संवाददाताः गेहूं की फसल के लिए आसमान से राहत बरस रही है। तापमान में गिरावट को कृषि वैज्ञानिक गेहूं के लिए फायदेमंद मान रहे हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक गेहूं का फुटाव अधिक होगा और पैदावार में बढ़ोतरी की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता।  प्रदेश में 2523 हजार हेक्टेयर पर गेहूं लहलहा रही है। 11780 हजार एमटी पैदावार का लक्ष्य रखा गया है। यमुनानगर की बात की जाए तो 87 हजार हेक्टेयर पर गेहूं की फसल खड़ी है। प्रदेश में गेहूं की सर्वाधिक बिजाई हिसार व सिरसा जिले में है। गेहूं की फसल को लेकर खास बात यह भी है कि हर जिले में बिजाई होती है। यह बात और है कि किसी जिले में बिजाई कम तो कहीं अधिक होती है। क्षेत्र में हुई बारिश से भी गेहूं उत्पादकों को काफी राहत मिली है। क्योंकि इन दिनों फसल को पानी की जरूरत थी। खासतौर पर उन क्षेत्रों के किसानों को फायदा हुआ है जहां ¨सचाई के साधन कम हैं। कृषि एवं कल्याण विभाग के उपनिदेशक डॉ. सुरेंद्र ¨सह के मुताबिक दिन के समय न्यूनतम तापमान 9 से 10 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया जा रहा है। आगामी दिनों ठंड की संभावना और भी जताई जा रही है। ठंड अधिक होने के कारण फुटाव अच्छा होगा। किसानों को चाहिए कि गेहूं की फसल की नियमित जांच करते रहें। पीलापन आने की स्थिति में कृषि विशेषज्ञ की राय लें। जरूरत के मुताबिक फसल की ¨सचाई करते रहे।

Share This Post

Post Comment