कुणाल के गायब होने से घर से ले पुरे ईलाके में छाई मायूषी

कुणाल के गायब होने से घर से ले पुरे ईलाके में छाई मायूषी

सिवान, बिहार/संजय कुमारः महाराजगंज अनुमंडल अंतर्गत दारौदा थाना क्षेत्र के जलालपुर शनिचरा ग्राम निवासी केशव सिंह के पुत्र कुणाल सिंह के एकाएक गायब हो जाने की सूचना से पूरा इलाका हतप्रभ है, बताते चलें कि शनिवार 18 नवंबर को कुणाल सिंह अपने घर से घर वालों से बोल कर चंचौरा बाजार पैदल दवा लाने के लिए गया और देर संध्या तक लौट कर घर वापस नहीं आया घर वालों को चिंता हुई खोजबीन में घर वाले लगे परंतु कुरान सिंह का पता नहीं चला 18 तारीख की रात्रि में गांव के तकरीबन दर्जनभर लोग कुणाल को खोजने लगे परंतु कुणाल का कहीं अता-पता नहीं चला। घर वालों से बातचीत के क्रम में यह पता चला कि कुणाल शांत स्वभाव का लड़का है चंचौरा बाजार पर एक निजी विद्यालय में कक्षा आठ का विद्यार्थी है विद्यालय का भी होनहार छात्र था चंचौरा बाजार पर आना जाना कुणाल सिंह का दिनचर्या का काम कहां जा सकता है परंतु 18 नवंबर संध्या जब कुणाल सिंह चैनचौरा दवा लेने गया और दवा लेकर कुणाल सिंह पुनः घर नहीं आया घर से लेकर पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है कुणाल के घर वालों ने बताया कि जब कुणाल घर से गायब हुआ तो उसके पॉकेट में 1000 आया था। ‎कुणाल सिहं कि एकबायक घर से गुम होने की सुचना के बाद खबर के पडताल मैं पहुंचे जनादेश एक्सप्रेस के प्रतिनिधि से बातचीत के क्रम में घरवालों ने बताया कि परिवार को किसी पर शक नहीं है कुणाल को किसी बच्चे से झगड़ा भी नहीं है कुल मिला जुला कर कुणाल सिहं का गायब होना पहेली बना हुआ है। ‎ घरवालों की स्थिति फिलहाल मायूसी में बदला हुआ है घर की सारी खुशियां कुणाल सिंह का गायब होना ले लिया है घर में किसी भी मोबाइल का रिंग बचता है तो घरवाले शायद यही सोचकर दौड़कर फोन उठा रहे हैं कि शायद कुणाल का खबर मिल जाए कि कुणाल अमुक जगह है। परंतु कुणाल का अता पता नहीं लगने से घरवाले बेचैन है जनादेश एक्सप्रेस के प्रतिनिधि से बातचीत के क्रम में ही कुणाल के पिता फफक कर रो पड़े।वही ‎ दारौंदा थाने में गुमशुदगी का लिखित आवेदन दिया गया है, लिखित आवेदन के आधार पर मामले की जांच में पुलिस लग गई है दारौधा थाना प्रभारी ने बताया कि पुलिस प्रशासन फिलहाल कुणाल सिंह के गायब होने के बिंदुओं पर विचार करते हुए प्रशासन पुरजोर कोशिश में लगा हुआ है कि कुरान सिंह का पता जल्द लग जाए।इस मामले में एनएचआरसीसीओ के इंडिया कॉडिनेटर और प्रभारी ब्रजेश पाठक ने जल्द से जल्द इस बच्चे को पता लगाये उच्चाधिकारियों से फोन पर बात हुए और अश्वासन दिए।

Share This Post

Post Comment