पत्रकार संगठनों ने दिया उप जिलाधिकारी को ज्ञापन

मुंबई, महाराष्ट्र/दीपक बसवालाः ज्वाइंट जर्नालिस्ट एक्शन कमेटी के बैनरतले सितंबर माह में तीन पत्रकारों की हत्या किए जाने की घटना का निषेध करते हुए देश में पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग को लेकर मुंबई के पूर्वी उपनगर के चेंबूर में स्थित आंबेडकर गार्डन से एक मोर्चा निकालकर उप जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर उप जिलाधिकारी सुनील भुताले को एक ज्ञापन सौंपा और उनसे मांग की गई कि इस ज्ञापन को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल और मुख्यमंत्री को भेजकर पत्रकार सुरक्षा कानून को बनाने के लिए सिफारिश करें। ज्वाइंट जर्नालिस्ट एक्शन कमेटी से संबंध छह पत्रकार संगठनों क्रमश: अखिल भारतीय हिन्दी पत्रकार संघ, नवनिर्माण पत्रकार संघ, बहुजन पत्रकार संघ, प्रजासत्ता पत्रकार संघ, मुंबई समूह पत्रकार संघ, स्टार जर्नालिस्ट वेलफेयर एशोसिएशन के पदाधिकारियों ने पत्रकारों की हत्या के विरोध में प्रदर्शन करने के लिए एक विशाल मोर्चा डॉ बाबासाहेब आंबेडकर गार्डन से निकालकर उप जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन किया। यह मोर्चा आंबेडकर गार्डन होते हुए एम वार्ड पहुंचा और वहां से सांडू गार्डन होते हुए उपजिला अधिकारी कार्यालय पहुंचकर उपजिला अधिकारी सुनील भुताले को ज्ञापन दिया। मोर्चे का नेतृत्व अखिल भारतीय हिन्दी पत्रकार संघ, मुंबई प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार सी. द्विवेदी, नवनिर्माण पत्रकार संघ के अध्यक्ष दीपक अढ़ाव और बहुजन पत्रकार संघ के अध्यक्ष सुरेश मंगरे ने संयुक्त रुप से किया। मोर्चे को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय हिन्दी पत्रकार संघ के अध्यक्ष राजकुमार द्विवेदी ने कहा कि पत्रकारों की हत्या करने से माफियाओं व अराजकतत्वों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। उन पर अंकुश लगाने के लिए पत्रकार सुरक्षा कानून जरूरी हो गया है। नवनिर्माण पत्रकार संघ के अध्यक्ष दीपक अढ़ाव ने कहा कि पत्रकारों की सुरक्षा का कानून नहीं लाया जाता है, तो पूरे महाराष्ट्र में धरना-प्रदर्शन और आंदोलन किया जाएगा। पत्रकारों के मोर्चे में महिला पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या का मुददा छाया रहा, वहीं उप जिलाधिकारी कार्यालय पर जब मोर्चा पहुंचा तो अनेक वक्ताओं ने तीनों पत्रकारों की हत्या का मुददा उठाया। बिहार में पत्रकार पंकज मिश्रा और हाल ही में त्रिपुरा में पत्रकार शांतनू भौमिक की हत्या का मामला जोरदार ढंग से उठाते हुए उप जिलाधिकारी सुनील भुताले से कहा कि पत्रकारों की हत्या के जो मामले हो रहे हैं, उस पर शासन-प्रशासन कडा कदम उठाए और पत्रकार सुरक्षा कानून को पास करवाकर पत्रकारों की रक्षा का दायित्व संभाले। ज्वाइंट जर्नालिस्ट एक्शन कमेटी से संबंध पत्रकार संगठनों के पदाधिकारियों के अलावा सामाजिक संगठन न्यारा फाउंडेशन के पदाधिकारियों और पत्रकारों ने मोर्चे में हिस्सा लिया। मोर्चे में पत्रकार राज पांडेय, कमल वर्मा, फखरुद्दीन हाशमी, देव बलदेव सिंह, मो. शरीफ कुरेशी, रूपकुमार रघुवंशी, बनवारी दुबे, गणेश जायसवाल, भोला विश्वकर्मा, दीपक पवार, कैलाशराव पाटिल , प्रीतम गोवर्धन, राजकुमारी वाल्मीकि, नियाज खान, सन्देश पाटिल सहित सैकडों की संख्या में पत्रकार बंधू, दक्ष नागरिक व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया।

Share This Post

Post Comment