बिजली आपूर्ति सही समय पर नहीं होने और सही रख रखाव के अभाव में आमजन परेशान

चित्तौड़गढ़, राजस्थान/चंद्रप्रकाश भावसारः 14 सितंबर गुरुवार रात 8:15 पर नई-आबादी,पुठोली के जलदाय विभाग के कार्यालय के पास मेन सिटी हाईवे रोड के किनारे विद्युत विभाग के ट्रांसफर में अचानक आग लग गई। जहा कल दिनभर बिजली विभाग ने बिजली कटौती कर रखी थी जिसके चलते हर आमजन को काफी परेशान होना पड़ा और ट्रांसफर में आग लगने के बाद फिर बिजली गुल हो गई। पुठोली के नई आबादी में बिजली की काफी समस्या है इस बारे में संबंधित अधिकारी को कई बार अवगत करवाया गया किन्तु उनके कान पर जूं तक नही रेंगी पता नही हर दिन होने वाली बिजली कटौती में विधुत विभाग किस प्रकार का रखरखाव करता है। पुठोली में वाटर वर्क्स के पास देखते ही देखते ट्रांसफार्मर में आग लगने लग गई। चिंगारियां उछलने लग गई और पटाखे फूटने जैसी आवाजे आने लगी और आधी नई-आबादी की लाइट एक के बाद फेस एक बंद हो गये। बारिश के बाद यह आम परेशानी हो गयी है। लेकिन इस नई-आबादी में रोज का यही हाल है। गत चार पांच महीनों से बिजली के हालात इतने खराब है,की दिन में कटौती व रख रखाव से बिजली बहुत मुश्किल से आती हैं। और रात में भी चली जाती है। बारिश के इस मौसम में आमजन ज्यादा परेशान हैं, बच्चे,मवेशी महिलाएं सब परेशान होते हैं। इस तरह से सरकार का यह नारा यहां विफल होता नजर आ रहा है। सरकार बनने से पहले से मुख्यमंत्री जी कहते थे। गांवो में 24 घण्टे बिजली देगें ये वायदे जनता से किये थे। वो आज यहां विफल होते नजर आ रहे हैं। और इस गांव के अंदर अधिकतर लोग मजदूरी करने वाले रहते हैं। वह ड्यूटी करके आते हैं। शाम को उनको बिजली भी अत्यंत आवश्यकता होती हैं। ओर यह डीपी अत्यंत कंजस्टेड जगह पर लगी हुई हैं। जिस जगह पर है वहा एक ओर मवेशियों के पानी की प्याऊ ओर एक ओर गली के कॉर्नर है। रास्ता ट्रांसफार्मर के पास से दोनों तरफ से सड़के गुजर रही हैं और ट्रांसफार्मर पर (देशी)आधुनिक तरीके के फ्यूज इतने नीचे हैं। कि कोई बच्चा अगर पास से निकल जाए तो हादसे का शिकार हो सकता हैं। अभी सड़क कार्य भी चल रहा हैं। सरकार को इस ओर गांव के प्रतिनिधियों को अवगत करवाना चाहिए। और इस ट्रांसफार्मर को अटल सेवा केंद्र के पास शिफ्ट किया जाना चाहिए। ताकि आने वाले समय में आबादी क्षेत्र में कोई जन धन की हानि नहीं हो। ओर यहां जो 11 के वी लाइन काकड़ में होती हुई आ रही हैं। जिस वजह से थोड़ी से बारिश के आते ही चली जाती हैं। ग्राम वासियों की मांग है। सरकार को इस ओर ध्यान देते हैं। यह 11 के वी लाइन दूसरे रुट से ट्रांसपोर्ट नगर तक आ रही हैं। उसके आगे कुछ टावर खम्भे लगाकर इस समस्या को जड़ से समाप्त किया जाए।

Share This Post

Post Comment