जैसलमेर मे सौर ऊर्जा प्लेटे विवरण करने वाली मार्डन सुरज प्रां लि कंपनी कोलकता का लाखो रूपये का घोटाला

जैसलमेर, राजस्थान/खीयाराम गोदाराः जिले मे राजीव गांधी विधुतीकरण ,मुख्यमंन्त्री विंधुतीकरण,पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना समेत इन योजना से सालाना अरबो रूपये का बजट खर्च होने के बावजुद गाव ढाणी सौर ऊर्जा कनेक्शन से वंचित। इस योजना के लिए सरकार ने कोलकता की मार्डन सुरज प्रां लिंं को टेंडर दिया है ।कंपनी को 2004 के पीएचईडी के सर्वे के आधार मानते हुए ,व पंडित दिनदयाल योजना के अतर्गत फार्म जमा करने वालो को घर घर सौर ऊर्जा प्लेटे वितरण करने के आदेश। केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सौर ऊर्जा कनेक्शन में 95 फीसदी सब्सिडी है। उपभोक्ता को महज पांच फीसदी राशि ही जमा करवानी होगी। एक घर में सौर ऊर्जा की एक प्लेट, एक बैटरी, पांच एलईडी और एक पंखा दिया जाता है। सेटअप की लागत 20600 रुपए निर्धारित है। इसमें उपभोक्ता को 1029  रूपय् जमा करवाने का है नियम। कंपनी द्रारा सभी नियम कायदे ताक कर एक प्लेट की किमत 5000 रूपये वसुली जाती है। चाहे उस व्यक्ति का नांम लिस्ट मे हो या नही। नियम कायदे कंपनी खुद तय करके स्थानीय जनप्रतिनिधियो से साठगाठ करके गरीब व्यक्तियो को इस योजना से वंचित रखकर प्लेटे वितरण की जाती है। कुछ लोग अपने खेत मे झौपे बताकर प्लेट लगवाकर बाद मे गाव ले जाते है ।जहा मौके पर मुल ढाणिया है वहा हमने प्लैटे वितरण कर दि है ।यदि कोई व्यक्ति वंचित रह गया है वो तुरन्त पंडित दिनदयाल योजना के AEN साहब के पास अपने दस्तावेज जमा करावे व सर्वे करके प्लैटे वितरण कर देगे -सुरेन्द्र माथुर प्रोजेक्ट डायरेक्टर आरआरईसी। क्या कहते है ग्रामीण – सौर उर्जा प्लेटे मनमानी करके जनप्रतिनिधि व कंपनी के डायरेक्टर उची एप्रोज वाले व्यक्तियो को वितरण की जा रही है जहा मुल ढाणिया मे क ई सालो से लोग निवास कर रहे है उनको प्लैटे नही दि जा रही है क ई लोगो को प्लेटे वितरण की है उन लोगो के नाम से लाईट कनेक्शन है। जो लोग गरीब है पात्र है उनको वंचित रखा जा रहा है ।ये सौर ऊर्जा घोटाला क ई सालो से जैसलमेर मे चल रहा है। जैसलमेर मे इस कंपनी के द्रारा जो सौर ऊर्जा लाईट वितरण की ग ई है उसकी न्यायिक जांच करके भष्टाचार मे लिप्त व्यक्तियो पर कानुनी कार्यवाही हो व कैन्द्र सरकार के नियम से आमजन को सौर ऊर्जा प्लेटे वितरण हो।

Share This Post

Post Comment