स्वास्थ्य कार्यक्रमों में लापरवाही पड़ी महंगी

गौंड़ा, उत्तर प्रदेश/मयूर रैतानीः स्वास्थ्य कार्यक्रमों में लापरवाही पड़ी महंगी, मण्डलायुक्त ने एसीएमओ बहराइच को प्रतिकूल प्रविष्टि देने के साथ एसीएमओ बलरामपुर व श्रावस्ती से मांगा स्पष्टीकरण पन्द्रह दिनों के भीतर अपडेटेड माइक्रोप्लान प्रस्तुत न करने वाले सीएमओ के खिलाफ होगी कार्यवाही-मण्डलायुक्त गोंडा।बार-बार चेतावनी के बावजूद स्वास्थ्य कार्यक्रमों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी अब कमिश्नर के निशाने पर आ गए हैं। मण्डलायुक्त सभागार में आयोजित मण्डलीय समीक्षा बैठक में मण्डलायुक्त एस0वी0एस0 रंगाराव ने फील्ड विजिट न करने के कारण एसीएमओ बहराइच डा0 पी0के0 बान्द्री को प्रतिकूल प्रविष्टि तथा एसीएमओ बलरामपुर जयन्त कुमार व एसीएमओ श्रावस्ती मुकेश मतान हेलिया से स्पष्ट तलब किया है। इसके अलावा छोलाछाप डाक्टरों तथा गैर लाइसेन्सी अस्पतालों के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश सभी जनपदों के डीएम व एडी हेल्थ को दिए हैं। मण्डलायुक्त ने स्वास्थ्य कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान सभी जनपदों के मुख्य चिकित्साधिकारियों को अन्तिम चेतावनी देते हुए निर्देश कि पन्द्रह दिनों के भीतर सभी जिलों के अपडेटेड माइक्रोप्लान उन्हें मिल जाएं अन्यथा अब सीधे सीएमओ के खिलाफ कार्यवाही होगी। इसके अलावा स्वास्थ्य कार्यक्रमों में सहयोग न करने वाले जिला स्तरीय अधिकारी की शिकायत सीधे उनसे की जाए तथा स्वास्थ्य कार्यक्रमों में ठीक से काम न करने वाली आशाओं का चिन्हीकरण रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। उन्होने निर्देश दिए कि अतिकुपोषित बच्चों को एनआरसी में जरूर भेजा जाए। समीक्षा के दौरान ज्ञात हुआ क एएनएम सेन्टरों पर संस्थागत प्रसव पूरे मण्डल में अपेक्षाकृत कम हो रहे हैं। ज्ञात हुआ कि रेहरा बाजार सबसेन्टर में बिजली और पानी की समुचित व्यवस्था तथा अन्य आवश्यक उपकरण न होने के कारण वहां पर प्रसव कार्य नहीं हो रहा है। इस पर मण्डलायुक्त ने सीएमओ बलरामपुर को तत्काल जांच कर व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। अन्तर्राष्ट्रीय सीमा से सटे एवं पिछड़े जनपदों जनपद श्रावस्ती एवं बलरामपुर में परिवार नियोजन कार्यक्रमों का व्यापक प्रचार-प्रसार कराने के निर्देश दिए हैं। जननी सुरक्षा योजना के तहत जनपद गोण्डा व श्रावस्ती में शत-प्रतिशत भुगतान न होने पर उन्होने नाराजगी व्यक्त करते हुए सीएमओ गोण्डा व श्रावस्ती को फटकार लगाई है। एडी हेल्थ ने मण्डलायुक्त को अवगत कराया कि मण्डल के जनपदों में तमाम प्राइवेट हाॅस्पिटलों द्वारा रिन्यूवल नहीं कराया गया है। इस पर मण्डलायुक्त सख्ती से पेश आने की नसीहत दी है तथा मण्डल के जनपदों के सभी डीएम व एसडीएम स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय बनाकर लगातार छापेमारी कराएं और छोलाछाप डाक्टरों व नर्सिंग होम संचालकों के खिलाफ कार्यवाही करें। समीक्षा बैठक में मण्डलायुक्त ने नियमित टीकाकरण, वीएचएनडी, संस्थगत प्रसव, नसबन्दी, स्वास्थ्य उपकेन्द्रों की स्थिति, एमसीटीएस रिपोर्टिंग, मिशन इन्द्रधनुष सहित अन्य स्वास्थ्य कार्यक्रमों की बिन्दुवार गहन समीक्षा की। बैठक के दौरान एडी हेल्थ डा0 सतीश कुमार, सीएमओ गोण्डा डा0 आभा आशुतोष, सीएमओ बलरामपुर, श्रावस्ती व बहराइच, डब्लूएचओ व यूनीसेफ के अधिकारी, सीएमएस गोण्डा डा0 संतोष श्रीवास्तव सहित अन्य जनपदों के सीएमएस, डा0 आर0पी0 सिंह व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Share This Post

Post Comment