विशेष विमान से सूरत पहुंचे श्रद्धालुअों के शव, गम में डूबा गुजरात

अहमदाबाद, गुजरात/नगर संवाददाताः जम्मू कश्मीर में आतंकी हमले में मारे गए गुजरात के अमरनाथ यात्रियों को विशेष विमान से गुजरात लाया गया है। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल सूरत हवाई अड्डे पर श्रद्धांजलि दी। राज्य सरकार ने मारे गए यात्रियों के परिजनों को 5-5 लाख के मुआवजे की घोषणा की है। अमरनाथ यात्रियों की हत्या को लेकर गुजरात के विविध धार्मिक, सामाजिक व राजनीतिक संगठनों ने गुस्से का इजहार किया है। मुख्यमंत्री रुपाणी ने हमले की कडी निंदा करते हुए मारे गए यात्रियों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की, साथ ही साथ केन्द्रीय ग्रह मंत्रालय से संपर्क कर जम्मू कश्मीर में फंसे हजारों गुजराती पर्यटकों की सुरक्षा के मुददे पर केन्द्र से चर्चा की। आतंकी हमले में मारे गए यात्रियों के पार्थिव देह मंगलवार दोपहर एक बजे वायुसेना के विशेष विमान से सूरत लाए गए। मुख्यमंत्री रुपाणी, उपमुख्यमंत्री पटेल, भाजपा अध्यक्ष जीतूभाई वाघाणी, महासचिव भरतसिंह परमार हवाई अड्डे पर ही मृतकों को श्रद्धांजलि दी। सरकार ने इस हमले में मारे गए यात्रियों के परिजनो को पांच-पांच लाख रुपए तथा घायलों को दो-दो लाख का मुआवजा देने की घोषणा की है। सरकार घायालों का उपचार सरकारी खर्च पर कराऐगी। उधर विश्व हिन्दू परिषद ने मंगलवार को राज्यभर में आतंकी हमले के विरोध में प्रदर्शन का ऐलान किया है। मुस्लिम संगठनों ने भी हमले की निंदा करते हुए मृतकों की आत्मा के लिए शांति की दुआ की। सरकार ने यात्रियों की जानकारी के लिए एक टॉल फ्री नंबर 07923251908 तथा 1070 भी जारी किया है जिस पर फोन करके इस संबंध में जानकारी प्राप्त की जा सकती है। दक्षिण गुजरात के वलसाड में कपडा व्यापारियों ने अमरनाथ यात्रियों की आतंकवादी हमले में हत्या के विरोध में अनुठा विरोध जताया है। कई व्यापारियों ने दुकानों के बाहर काले कपडों में स्टेचयू खडे कर उन पर यात्रियों को श्रद्धांजलि व हमले की निंदा के संदेश लिखे है।

Share This Post

Post Comment