प्रधानमंत्री आवास से सटे दो पुलिसकर्मियों के घरों से लाखों की चोरी

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः लुटियंस दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास से सटे अशोका लाइन पुलिस कॉलोनी भी सुरक्षित नहीं है। मंगलवार देर रात चोर पुलिस कॉलोनी में रहने वाले दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर व हवलदार के घरों के ताले तोड़ 10 लाख से अधिक के जेवरात, नकदी व अन्य कीमती सामान पर हाथ साफ कर दिए। दोनों पुलिसकर्मी अपने-अपने परिवार के साथ दिल्ली से बाहर गए हुए थे। घरों में ताले लटके थे। चोरों ने रेकी करने के बाद वारदात को अंजाम दिया। एक महिला पुलिसकर्मी के घर में भी चोरों ने चोरी करने की कोशिश की, लेकिन पुलिसकर्मी की नींद खुल जाने से चोर मकसद में कामयाब नहीं हो पाए। प्रधानमंत्री आवास के पास पुलिसकर्मियों के घरों में चोरी करने की उक्त घटना ने जिला पुलिस के अलावा मुख्यालय में बैठने वाले आला अधिकारियों की नींद उड़ाकर रख दी है। चाणक्यपुरी थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। उक्त मामले की जांच में जिला पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच को भी लगा दिया गया है। हैरान करने वाली बात यह है कि अशोका पुलिस लाइन प्रधानमंत्री आवास से बिल्कुल सटा हुआ है। उक्त कॉलोनी में दिल्ली पुलिस के दो विशेष आयुक्त एके सिंह व संदीप गोयल के भी आवास हैं, जिससे कॉलोनी के मेन गेट पर पुलिस पोस्ट भी है। बगल में प्रधानमंत्री आवास होने के कारण लुटियंस दिल्ली का वह इलाका सबसे सुरक्षित माना जाता है। चप्पे-चप्पे पर दिल्ली पुलिस, पैरा मिलिट्री के अलावा एसपीजी की नजर रहती है बावजूद इसके एक रात दो घरों में चोरी करने व तीसरे में चोरी का प्रयास करने की घटना ने राजधानी की कानून व्यवस्था की पोल खोलकर रख दी है। बड़ा सवाल यह है कि अति सुरक्षित इलाके में रात के समय आखिर पुलिसकर्मी कहां थे? चोरों ने जिन दो पुलिसकर्मियों के घरों को निशाना बनाया उनके नाम सब इंस्पेक्टर दीप शर्मा व हवलदार प्रदीप सिंह उर्फ बिट्टू हैं। दीप शर्मा परिवार के साथ पंजाब गए थे। चोर उनके घर में घुसकर दो लैपटॉप, नकदी व जेवरात ले भागे। क्राइम एंड रेलवे में तैनात हवलदार प्रदीप सिंह एलटीसी टूर पर परिवार के साथ गंगटोक गए थे। चोर उनके घर से पांच लाख के जेवरात व लाखों रुपये की नकदी चोरी कर लिए। बुधवार सुबह पड़ोस में रहने वाले पुलिसकर्मियों ने जब दोनों के घरों के ताले टूटे  देखे तब पीसीआर को सूचना दी गई। लुटियंस दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास से सटे अशोका लाइन पुलिस कॉलोनी भी सुरक्षित नहीं है। मंगलवार देर रात चोर पुलिस कॉलोनी में रहने वाले दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर व हवलदार के घरों के ताले तोड़ 10 लाख से अधिक के जेवरात, नकदी व अन्य कीमती सामान पर हाथ साफ कर दिए। दोनों पुलिसकर्मी अपने-अपने परिवार के साथ दिल्ली से बाहर गए हुए थे। घरों में ताले लटके थे। चोरों ने रेकी करने के बाद वारदात को अंजाम दिया। एक महिला पुलिसकर्मी के घर में भी चोरों ने चोरी करने की कोशिश की, लेकिन पुलिसकर्मी की नींद खुल जाने से चोर मकसद में कामयाब नहीं हो पाए। प्रधानमंत्री आवास के पास पुलिसकर्मियों के घरों में चोरी करने की उक्त घटना ने जिला पुलिस के अलावा मुख्यालय में बैठने वाले आला अधिकारियों की नींद उड़ाकर रख दी है। चाणक्यपुरी थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। उक्त मामले की जांच में जिला पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच को भी लगा दिया गया है। हैरान करने वाली बात यह है कि अशोका पुलिस लाइन प्रधानमंत्री आवास से बिल्कुल सटा हुआ है। उक्त कॉलोनी में दिल्ली पुलिस के दो विशेष आयुक्त एके सिंह व संदीप गोयल के भी आवास हैं, जिससे कॉलोनी के मेन गेट पर पुलिस पोस्ट भी है। बगल में प्रधानमंत्री आवास होने के कारण लुटियंस दिल्ली का वह इलाका सबसे सुरक्षित माना जाता है। चप्पे-चप्पे पर दिल्ली पुलिस, पैरा मिलिट्री के अलावा एसपीजी की नजर रहती है बावजूद इसके एक रात दो घरों में चोरी करने व तीसरे में चोरी का प्रयास करने की घटना ने राजधानी की कानून व्यवस्था की पोल खोलकर रख दी है। बड़ा सवाल यह है कि अति सुरक्षित इलाके में रात के समय आखिर पुलिसकर्मी कहां थे ? चोरों ने जिन दो पुलिसकर्मियों के घरों को निशाना बनाया उनके नाम सब इंस्पेक्टर दीप शर्मा व हवलदार प्रदीप सिंह उर्फ बिट्टू हैं। दीप शर्मा परिवार के साथ पंजाब गए थे। चोर उनके घर में घुसकर दो लैपटॉप, नकदी व जेवरात ले भागे। क्राइम एंड रेलवे में तैनात हवलदार प्रदीप सिंह एलटीसी टूर पर परिवार के साथ गंगटोक गए थे। चोर उनके घर से पांच लाख के जेवरात व लाखों रुपये की नकदी चोरी कर लिए। बुधवार सुबह पड़ोस में रहने वाले पुलिसकर्मियों ने जब दोनों के घरों के ताले टूटे  देखे तब पीसीआर को सूचना दी गई।

Share This Post

Post Comment