तनाव के बीच पद से मुक्ति चाहते हैं राज्यपाल वोहरा, केंद्र सरकार को लिखा पत्र

श्रीनगर, जम्मूकश्मीर/नगर संवाददाताः जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल एनएन वोहरा अपने पद से मुक्ति चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने केंद्र को पत्र लिखकर उन्हें पद मुक्त करने को कहा है। वोहरा ने केंद्र को लिखे पत्र में कहा है कि सरकार उनके विकल्प का इंतजाम कर लें। वोहरा ने ऐसे समय में ये फैसला लिया है जब घाटी में लगातार अशांति और हिंसा की खबरें आ रही हैं। 81 साल के वोहरा का राज्यपाल के तौर पर उनका दूसरा कार्यकाल है. वह पिछले नौ सालों से इस पद पर हैं। वोहरा 25 जून साल 2008 को जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल बने थे। उस दौरान केंद्र में यूपीए की सरकार थी। वोहरा राज्य के इकलौते राज्यपाल हैं, जिन्हें केंद्र ने दूसरा कार्यकाल दिया था। वोहरा की इस पेशकश के पीछे क्या कारण हैं, उसके बारे में अभी कुछ जानकारी नहीं मिली है। वोहरा जम्मू कश्मीर के 12वें राज्यपाल हैं। उनसे पहले इस पद पर एसके सिन्हा थे। एनएन वोहरा पूर्व नौकरशाह हैं। 1997 से 1998 तक वह प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव भी रह चुके हैं। उन्हें 2007 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।1989 में जम्मू-कश्मीर में उग्रवाद के बाद वह पहले सिविलियन गवर्नर हैं।

Share This Post

Post Comment