चंपारण सत्याग्रह के 100 साल पर बाबा रामदेव ने लगाया 3 दिन का योग शिविर

चंपारण सत्याग्रह के 100 साल पर बाबा रामदेव ने लगाया 3 दिन का योग शिविर

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः महात्मा गांधी के चंपारण सत्याग्रह के 100 साल पूरे होने पर बाबा रामदेव चंपारण में 3 दिवसीय नि:शुल्क योग शिविर लगाया है। योग ध्यान शिविर में लोगों को ध्यान और योग की महता बताने के लिए बाबा रामदेव सात जून की शाम मोतिहारी पहुंचे। तीन दिवसीय योग ध्यान शिविर में केन्द्रीय कृषि मंत्री, दिल्ली भाजाप के अध्यक्ष मनोज तिवारी, भाजपा नेता संजीव चौरसिया और विधान पार्षद नवल किशोर यादव समेत कई भाजपा नेता भी शिरकत करेंगे। योग को स्वभाव बनाने का आह्वान करते हुए विश्व योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि जेनेटिक बीमारियों का नाश दवा नहीं योग से ही संभव है। करीब 200 देशों में योग हो रहा है। बाबा रामदेव बुधवार की शाम मोतिहारी पहुंचे। उन्होंने चंपारण की धरती को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि बिहार में तीन औद्योगिक यूनिट की स्थापना करूंगा, जिसमें एक चंपारण में होगा ताकि यहां के किसान और बेरोजगार युवकों को रोजगार मिल सके। पतंजलि के माध्यम से अब तक एक लाख लोगों को रोजगार मिला है। अगले पांच वर्षों में पांच लाख लोगों को रोजगार दिलाने की घोषणा की और कहा कि पतंजलि कंपनी देश के लिए काम कर रही है। शिक्षा, रिसर्च और गो अनुसंधान पर पैसे खर्च किया जा रहा है। बिहार में शराब बंदी की सराहना करते हुए कहा कि पूर्ण सफलता कानून के डंडा से नहीं योग से ही संभव है। योग गुरु ने कहा कि केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने एक माह पूर्व चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष में आने का निमंत्रण दिया। ऐसे में ऐतिहासिक चंपारण की भूमि को नमन करने आया हूं। उन्होंने कहा कि कालाधन के खिलाफ आंदोलन शुरू किया सफलता भी मिली और अब विदेशी वस्तु बहिष्कार व स्वदेशी अपनाने का समय आ गया है। योग धर्म के साथ राष्ट्रधर्म को प्राथमिकता बताते हुए कहा कि टेंशन, डायबिटिज, कैंसर, गैस्ट्रीक आदि बीमारियां तेजी से पांव पसार रही हैं। ऐसे में सभी योग को अपनाएं।

Share This Post

Post Comment