बिल्डरों ने किया वादा, 2020 तक पूरे होंगे सभी पेंडिंग प्रोजेक्ट्स

गौतमबुद्धनगर, उत्तर प्रदेश/नगर संवाददाताः नोएडा और ग्रेटर नोएडा में पांच बड़े बिल्डरों ने अपने सभी अटके हाउसिंग प्रोजेक्ट्स को साल 2020 तक पूरा करने का वादा किया है। इन बिल्डरों में जेपी, सुपरटेक और आम्रपाली जैसे बड़े नाम शामिल हैं। सभी बिल्डरों ने नोएडा विकास प्राधिकरण को लिखित वादा किया है। अधिकारियों के मुताबिक नोएडा अथॉरिटी और रियल एस्टेट डिवेलपर्स असोसिएशन ऑफ इंडिया के बीच हालिया बैठक के बाद शुक्रवार को पांच डिवलपर्स ने अपने 14 आवासीय परियोजनाओं का टॉवर-वार प्लान प्रस्तुत किया। इनमें ज्यादातर प्रोजेक्ट के लिए तीन से पांच वर्षों की मियाद रखी गई है। जेपी समूह ने अपने अमन प्रोजेक्ट को चरणों में पूरा करने और मार्च 2018 तक 13 टॉवरों की सभी 1,994 यूनिट्स देने का वादा किया है। आगामी प्रोजेक्ट के लिए समूह ने एक टॉवर वार शेड्यूल दिया है, जिसके मुताबिक यह सितंबर 2017 तक 6 टावरों में 420 यूनिट्स, अक्टूबर और दिसंबर 2017 के बीच 32 टावरों में 3,329 यूनिट्स और जनवरी और मार्च 2018 के बीच 25 टावरों में 2,690 यूनिट्स पूरी करेगा। आम्रपाली समूह ने जून 2017 में सेक्टर 119 में अपने प्लैटिनम प्रोजेक्ट्स के तहत 100 फ्लैट खरीददारों को सौंपने का आश्वासन दिया है और शेष 51 इसी साल अगस्त तक उपलब्ध होंगे। अपने प्रिंसले एस्टेट प्रोजेक्ट के लिए जहां आम्रपाली की 699 फ्लैट्स देने की अवधि खत्म हो गई है, उसने जून 2017 से घरों की डिलिवरी शुरू करने और मई 2018 तक इसे पूरा करने का वादा किया है। आम्रपाली सिलिकॉन सिटी के लिए भी बिल्डर ने सितंबर 2018 तक पहला चरण पूरा करने की बात कही है। पहला चरण 2 जून तक और दूसरा सितंबर 2020 तक पूरा होगा। आम्रपाली फिलहाल दिसंबर 2018 की समयसीमा तय कर चुका है। सुपरटेक एकमात्र बिल्डर है, जिसने दावा किया है कि उसका एक भी अपार्टमेंट में पेंडिंग नहीं है। नोएडा प्राधिकरण को जमा किए दस्तावेजों में समूह ने मार्च 2018 के अंत तक केपटाउन, इकोसिटी, द रोमानो, सुपरनोवा और ई-स्क्वायर परियोजनाओं में 5,155 फ्लैट्स सौंपने का दावा किया है। अन्य दो बिल्डरों- सुभक्तना बिल्डटेक और उन्नति फॉर्च्यूनेट ने अपने फ्लैट मार्च 2019 तक और जून 2019 तक सौंपने का वादा किया है।

Share This Post

Post Comment