मातृ भाषा, सभ्यता व संस्कृति के ज्ञान हेतु बाल संस्कार शिविरों का आयोजन

अजमेर, राजस्थान/दिनेशः मातृ भाषा, सभ्यता व संस्कृति के ज्ञान हेतु महानगर में 10 सिन्धी बाल संस्कार शिविरों का आयोजन किया जाएगा। उक्त निर्णय महानगर अध्यक्ष मोहन तुलस्यिाणी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में लिया गया। महानगर मंत्री महेश टेकचंदाणी ने बताया कि प्रथम शिविर का शुभारम्भ आगामी 7 मई से स्वामी सर्वानन्द विद्यालया, आशा गंज, अजमेर किया जाएगा। इसके संयोजक रूकमणि वतवाणी व रमेश गागनाणी को जिम्मेदारी दी गई है। शिविर का शुभारंभ संत महात्माओं के साथ प्राचार्य मनजीत कौर द्वारा किया जाएगा। संगठन मंत्री मोहन कोटवाणी ने बताया कि ग्रीष्मकाॅलीन अवकाश में बाल संस्कार शिविर ईश्वर मनोहर उदासीन आश्रम, अजयनगर में, झूलेलाल मन्दिर चैरसियावास रोड में, पूज्य सिन्धी पंचायत, पंचशील नगर में, हरिभाउ उपाध्याय नगर में, झूलेलाल मन्दिर, जे.पी. नगर नाका मदार में, लीलाशाह काॅलोनी, धोलाभाटा में, स्वामी बसंतराम सेवा ट्रस्ट देहली गेट में, सामुदायिक भवन सेक्टर ए, चन्द्रवरदाई नगर व आदर्श नगर में आयोजित किए जाएंगे। प्रदेश महामंत्री महेन्द्र कुमार तीर्थाणी ने कि प्रदेश कार्यसमिति में तय किया गया है कि इस वर्ष में राज्य की सभी ईकाईयों द्वारा पूज्य सिन्धी पंचायत के सहयोग से संगोष्ठियां, बाल संस्कार केन्द्र, महापुरूषों की बलिदान दिवस व जयंतियों के साथ राज्य में सात रथयात्राओं को आयोजन किया जायेगा जिसमें प्रत्येक तहसील स्तर तक सिन्धी विषय लेकर अध्ययन करने वाले विद्यार्थियों को जोडा जाएगा। बैठक में संभाग प्रभारी नरेन्द्र बसराणी, शंकर सबनाणी, भगवान पुरसवाणी, रमेश लख्याणी, रमेश वलीरामाणी, खेमचन्द नारवाणी, सुनील लालवाणी, सुनीता भागचंदाणी, जयकिशन हिरवाणी, हरकिशन टेकचंदाणी, पुष्पा साधवाणी, किशन केवलाणी, पुरुषोतम जगवाणी, मुकेश आहूजा, एडवोकेट महेश सावलाणी, प्रकाश मंघनाणी, अशोक चिबराणी, नंदलाल धनवाणी, प्रदीप साजनाणी, नारायण सोनी सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Share This Post

Post Comment