लुधियाना में बहन से प्रेम संबंधों के शक में दोस्त की हत्या

लुधियाना, पंजाब/नगर संवाददाताः चीमा चौक से सटे विजय नगर में गली नंबर एक के बेहड़े में दिनदहाड़े युवक की उसके दोस्त ने गोली मार हत्या कर दी। मृतक की पहचान अजय कुमार (22), निवासी गोंडा उत्तर प्रदेश, थाना कटरा बाजार गांव खाले पुरवा शाहजोद के रूप में हुई। आरोप है कि उसकी हत्या उसके ही दोस्त अकबर ने की। उसे शक था कि अजय का उसकी बहन के साथ प्रेम संबंध है। घटना शुक्रवार सुबह की है। घटना का पता चलते ही एडीसीपी क्राइम बलकार सिंह, कुलदीप शर्मा, एसीपी सचिन गुप्ता, थाना डिवीजन नंबर छह, चौकी जनकपुरी, फोरेंसिक लैब टीम के साथ मौके पर पहुंचे और पड़ताल शुरू की। गली नंबर एक स्थित बबलू के तीन मंजिला बेहड़े की पहली मंजिल में रहने वाले अकबर उर्फ डब्बू के कमरे में दरवाजे के पास अजय का रक्तरंजिश शव पड़ा था। दरवाजा खुला हुआ था और कमरे से निकला खून बाहर बालकनी तक फैला हुआ था। छानबीन के दौरान कमरे से बाहर पड़े आटे के एक छोटे ड्रम में से पुलिस ने देसी कट्टा बरामद किया। शव के पास ही चले हुए कारतूस का खोल पड़ा था। गोली मृतक की कनपटी पर लगी थी। एडीसीपी कुलदीप शर्मा ने बताया कि पुलिस ने हरि राम के बयान पर अकबर उर्फ डब्बू (16) के खिलाफ केस दर्ज करके उसे गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को दिए बयान में हरि राम ने बताया अजय पहले उसके साथ सब्जी बेचने का काम करता था। दो महीने पहले हरि राम गांव गया था। इसके बाद अजय किसी फैक्ट्री में कटाई का काम सीखने लगा। रोज की तरह शुक्रवार सुबह अजय कमरे से काम पर जाने की बात कह कर निकला था। हरि राम भी सब्जी मंडी चला गया। करीब दस बजे उसे फोन पर सूचना मिली कि अजय की हत्या हो गई है। पता चलते ही वो वापस भागा। उनका बेहड़ा उस बेहड़े के ठीक सामने है, जहां अजय का शव मिला। एडीसीपी शर्मा ने बताया कि अजय को हथियार रखने का शौक था। जिस कट्टे से उसकी हत्या हुई, वो उसका अपना था। जिसे वो उत्तर प्रदेश से खुद खरीद कर लाया था। हरि राम ने यह भी बताया कि अकबर की बहन के साथ अजय के प्रेम संबंध थे। उसी ने अजय की हत्या की है। मगर एडीसीपी ने कहा कि फिलहाल इस बात की जांच की जा रही है। हरि राम ने बताया कि वो लोग मूलरूप से गोंडा (उत्तर प्रदेश) के थाना कटरा बाजार के अंर्तगत आते गांव खाले पुरवा शाहजोद के रहने वाले हैं। तीन बहनों व दो भाइयों में अजय सबसे छोटा था। अन्य सभी की शादी हो चुकी है। जबकि अजय अभी कुंवारा था। वो पिता के साथ यहां सब्जी बेचने का काम करता था। उधर, कमिश्नर पुलिस कुंवर विजय प्रताप सिंह ने कहा कि हत्या का पर्चा दर्ज करके अकबर को गिरफ्तार किया गया है। मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही पता चलेगा कि यह हत्या है या कुछ और। सूत्रों से पता चला है कि प्रेम संबंधो को लेकर अजय व अकबर में तनातनी चल रही थी। जिसे सुलझाने के लिए उनके दोस्त विजय ने शुक्रवार सुबह 9 बजे अजय को अकबर के कमरे में बुलाया। वहां जाते समय अजय अपना देसी कट्टा पैंट में छिपा कर ले गया। बातचीत के दौरान साढ़े नौ बजे दोनों आपस में गुत्थमगुथा हो गए। इसी दौरान अजय की पैंट में रखा कट्टा फर्श पर गिर गया। जिसे उठा कर अकबर ने फायर कर दिया। अजय को मरा देख दोनों बाहर की तरफ भागे। विजय अलग दिशा में भाग गया, जबकि अकबर ने गली में शोर मचा दिया कि अजय ने आत्महत्या कर ली है। शोर सुनकर लोगों की भीड़ मौके पर इकट्ठा होगी गई, लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए। लोगों ने ही आरोपी युवक को दबोच लिया और पुलिस के हवाले कर दिया।

Share This Post

Post Comment