भारत-यूके के बीच निवेश और व्‍यापार पर होगी द्विपक्षीय वार्ता

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः ब्रिटिश वित्त मंत्री फिलिप हैमंड अपने भारतीय समकक्ष अरुण जेटली के साथ आज दोनों देशों के बीच व्यापार और निवेश को बढ़ावा देने के लिए चर्चा करेंगे। हैमंड यूके-इंडिया इकोनोमिक एंड फाइनेंशियल डायलॉग (इएफडी) कार्यक्रम में हिस्‍सा लेने के लिए इन दिनों भारत में हैं। ब्रिटिश उच्‍चायुक्‍त के मुताबिक, नौवें यूके-इंडियन इकोनोमिक एंड फाइनेंशियल डायलॉग की मेजबानी भारतीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने की है। इस वार्ता का उद्देश्‍य भारत और यूके के बीच कारोबारी संबंधों को मजबूत करना है। साथ ही यह दिखाना है कि ब्रिटेन व्‍यापार करने के लिए विश्‍व की सबसे अच्‍छी और सुरक्षित जगहों में से एक है। बताया जा रहा है कि इस दो दिवसीय उच्‍च-स्‍तरीय वार्ता में व्‍यापार, फाइनेंशियल सर्विसेज और इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के मुद्दों पर बातचीत होगी। बैंक ऑफ इंग्लैंड के गवर्नर मार्क कैर्ने और फाइनेंशियल कंडक्ट ऑथोरिटी के सीईओ एंड्रयू बेली भी अरुण जेटली के साथ चर्चा में भाग लेंगे। वहीं हैमंड मुंबई दौरे पर जाएंगे और वहां वे बार्कलेज राइज में इंडियन फिनटेक स्‍टार्ट-अप्‍स से भी रूबरू होंगे। बिजनेस, एनर्जी एंड इंडस्ट्रियल स्‍ट्रैटजी के स्‍टेट ऑफ सेक्रेट्री ग्रेग क्‍लार्क ने कहा कि भारत-यूके एनर्जी के बीच ग्रोथ डायलॉग से दोनों पक्षों को इकोनॉमी मौकों को ढूंढने में काफी सहायता मिलेगी।

Share This Post

Post Comment