बच्चों की संपूर्ण शिक्षा हेतु सामूहिक प्रयास

नई दिल्ली/अरविंद कुमार यादवः बचपन सभी के जीवन में वह सुनहरा समय होता है जिसे यदि सही समय पर सही दिशा मिले तो न केवल स्वयं के अपितु देश के लिए भी निश्चय ही अनूठा योगदान दे सकता है। परंतुयूनिसेफ की एक रिपोर्ट के अनुसार लगभग 150 मिलियन बच्चों का बचपन आज भी बाल श्रम की चपेट में है और शिक्षा से वंचित है। समाज की इसी कुरीति की ख़त्म कर अभावग्रस्त वर्ग की बच्चों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान के सामाजिक प्रकल्प “मंथन- संपूर्ण विकास केंद्र” द्वारा उन बच्चों को मूल्याधारित शिक्षा प्रदान की जा रही है। देश के विकास में सामाजिक दायित्व निभाते हुए अनेक सज्जन विभिन्न क्षेत्रों से इन बच्चों के सकारात्मक विकास के लिए आगे बढ़ कर भाग ले रहे है। बच्चों को देश का भविष्य माना जाता है। परन्तु इस भविष्य की नींव वर्तमान पीढ़ी ही गढ़ती है, और इसी प्रयास में भागीदारी निभाते हुए सेपिअन्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी द्वारा अपने सामाजिक उत्तर दायित्व- सी. एस. आर. के अंतर्गत मंथन- गुरुग्राम, हरियाणा संपूर्ण विकास केंद्र (एस. वी. के.) में बच्चों के विकास हेतु अनेक सहायतार्थ प्रयास किए जा रहे है।

6

मंथन- गुरुग्राम एस. वी. के. में आयोजित “समर कैम्प” में 24 जून 2016 को सेपिअन्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के 10 एम्प्लॉइस ने विज्ञान के रोचक अविष्कार, मैजिक शो में छिपे रहस्य, नृत्य, नाटक आदि जैसी कई गतिविधियां सिखाई तथा स्वयं भी भाग लिया। 30 सितम्बर 2016 को सेपिअन्ट प्राइवेट लिमिटेड द्वारा नेहरु तारामंडल में एक शैक्षणिक यात्रा आयोजित की गई। जिसमें सेपिअन्ट के 10 एम्प्लॉइस के साथ मंथन-गुरुग्राम एस. वी. के. के 45 छात्रों और 5 स्वयंसेवकों ने भाग लिया। यह संपूर्ण यात्रा सभी प्रतिभागियों के लिए ज्ञानवर्धक, रोमांचक और उत्साह वर्धक रही। शिक्षा एक विकल्प नहीं अपितु यह एक आवश्यकता है। जिसे पूरा करने के लिए जिन सुविधाओं की ज़रूरत होती है वह अभावग्रस्त वर्ग के बच्चों को प्राप्त नहीं होती है। इन्ही ज़रूरतों को समझते हुए सेपिअन्ट प्राइवेट लिमिटेड के एम्प्लॉइस ने मंथन गुरुग्राम एस. वी. के. में स्टडी टेबल्स एवं स्टेशनरी उपलब्ध करवाई। आजकल सभी प्रतिष्ठित स्कूलों में पढ़ाने के तरीके में नवीनता लाने के लिए “स्मार्ट क्लास” का प्रयोग किया जा रहा है और मंथन के केन्द्रों में भी बच्चों को स्मार्ट क्लास की सुविधा प्रदान की गई है। इसी दिशा में 9 फ़रवरी 2017 को मंथन- गुरुग्राम एस. वी. के. में स्मार्ट क्लास का उद्घाटन समारोह रखा गया। जिसमें सेपिअन्ट द्वारा स्क्रीन, प्रोजेक्टर एवं कंप्यूटर प्रदान किया गया। त्यौहार सभी के जीवन में खुशियों के रंग भरने के लिए आते है और ऐसे ही हर्षोल्लास भरे त्यौहारों (बाल दिवसए दिवाली और क्रिसमस डे) को सेपिअन्ट के एम्प्लॉइस ने मंथन के बच्चों के साथ मनाया। मंथन के बच्चों के साथ यह सत्र रोचक, मनोरंजक और उत्साह से भरा हुआ था। सहयोग की इसी श्रृंखला में एक और कड़ी जोड़ते हुए मंथन- संपूर्ण विकास केंद्र और सेपिअन्ट मिलकर अप्रैल माह में एक विशेष कार्यक्रम “मेट्रिक मेला” आयोजित करने जा रहे है। जिसमें मंथन द्वारा न केवल अपने बल्कि अन्य स्कूलों के बच्चों को साथ मिलाकर गणित की मनोरंजक गतिविधियों और खेलों का मेला आयोजित किया जाएगा।

Share This Post

Post Comment