सफदर नागौरी समेत सिमी के 11 आतंकियों को उम्रकैद

इंदौर, मध्यप्रदेश/नगर संवाददाताः इंदौर की स्पेशल कोर्ट ने सफदर नागौरी सहित सिमी के 11 आतंकियों के खिलाफ देशद्रोह के मामले में फैसला सुना दिया है। सभी को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। कोर्ट ने सभी 11 सिमी आतंकियों को देशद्रोह का दोषी करार दिया है। इनमें से 10 आतंकी गुजरात की साबरमती जेल में बंद है, जिन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से फैसला सुनाया गया। मार्च 2008 में इंदौर से सिमी के इन 11 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था। इससे पहले सिमी आतंकी सफदर नागौरी सहित 10 आरोपियों के बयान गुरुवार को पूरे हो गए थे। सुबह 11 से शाम 5 बजे तक लगातार सुनवाई हुई थी। बंद रूम में कोर्ट ने आरोपियों से अलग-अलग 334 सवाल पूछे थे। सभी ने एक जैसे जवाब दिए। पुलिस ने जब सफदर नागोरी, कमरुद्दीन व आमिल परवेज से पूछताछ की तो इनकी निशानदेही पर इंदौर के पास अरोदा गांव के शहजाद फार्म हाऊस से छिपाकर रखे गए 120 विस्फोट रॉड और सौ डिटोनेटर बरामद किए। इसके साथ ही भड़काने वाले 240 पैम्पलेट भी जब्त किए, जिनमें जेहाद और देशद्रोह की बातें लिखी थीं। देशद्रोह के इन सभी आरोपियों को पुलिस ने 2008 में श्याम नगर, इंदौर से पकड़ा था। कोर्ट ने अहमदाबाद की साबरमती केंद्रीय जेल में बंद 10 आरोपियों की गुहार पर उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए यह फैसला सुनाया। विशेष अपर सत्र न्यायाधीश ने सिमी सरगना नागौरी और अन्य आरोपियों की यह गुहार मान ली थी कि फैसले की तारीख को उन्हें अहमदाबाद के साबरमती केंद्रीय जेल से इंदौर न लाया जाए और उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये अदालत के सामने पेश कर फैसला सुना दिया जाए। अदालत ने अहमदाबाद के जेल प्रशासन को आदेश दिया कि वह तय तारीख को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का इंतजाम करे। इससे पहले, नागौरी, आमिल परवेज, शिबली, कमरूद्दीन, हाफिज, शाहदुली, कामरान, अंसार, अहमद बेग और यासीन ने अदालत में अपने बयान दर्ज कराये। इन सिमी कार्यकर्ताओं ने खुद को मामले में बेकसूर बताया।

Share This Post

Post Comment