शराब बिक्री के खिलाफ इसुआपुर में रोड जाम

सारण, बिहार/नागेन्द्र सिंहः नशाबंदी के समर्थन में जहां शनिवार को बिहार में 3 करोड़ से अधिक लोगों ने मानव श्रृंखला बनाकर एकजुटता दिखाई। वहीं मानव श्रृंखला बनाए जाने के दूसरे ही दिन शराब की बिक्री जारी रहने से आक्रोशित लोगों ने रविवार की अहले सुबह पिपरहियां बाजार के पास छपरा-सत्तरघाट मुख्य सड़क को घंटों जाम कर दिया। रोड जाम होने तथा आवागमन बाधित होने की खबर पर पहुंची पुलिस पर भी आक्रोशित लोगों ने भड़ास निकाली। मुख्य सड़क पर शराब बिक्री के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों में पुरूषों की अपेक्षा महिलाओं की संख्या अधिक थी। युवाओं एवं महिलाओं ने पुलिस को निर्भीक होकर शराब बेचने वालों के नाम भी पुलिस को बताए। प्रदर्शनकारियों ने जिन शराब कारोबारियों के नाम बताए उनमें पिपरहियां गांव के छट्ठू मांझी ,लालू मांझी ,युगेश्वर मांझी ,शिवधारी महतो तथा समीपवर्ती बनियापुर थाना क्षेत्र के खालिसपुर गांव के भूषण राय के नाम शामिल है। पिपरहियां तथा खालिसपुर गांव के नीलम देवी ,मुन्नी देवी ,झालर देवी ,बेबी देवी ,रंभा देवी, प्रियंका, मनीषा, ¨टकी कुमारी, युवक मिथिलेश ,मुन्ना, रोहन ,पंकज ,चंदन समेत दर्जनों लोगों का कहना था कि जब पूर्ण शराबबंदी की घोषणा सरकार ने कर दी तो उन्हें काफी खुशी हुई। लेकिन अभी भी कुछ लोग शराब बेंच रहे हैं। लोगों ने शराब कारोबारियों द्वारा शराब की होम डिलीवरी की सेवा दिए जाने की बात कही। महिलाओं का कहना था कि दारू पीने वालों के परिवार तबाह हो रहे हैं। शराब अब पहले की अपेक्षा बहुत अधिक महंगा भी हो गया है। आक्रोशित लोग पुलिस की कोई बात सुनने को तैयार नहीं थे। हालांकि पूर्व मुखिया नागेन्द्र तिवारी ,सरपंच गुड़िया देवी के पति विजय कुमार ¨सह ,उमेश राय आदि के समझाने-बुझाने तथा वे लोग खुद उनके अभियान में साथ देकर शराब की बिक्री पूर्णत: बंद कराएंगे का आश्वासन देने पर लोग शांत हुए। बाद में बनियापुर थाने की पुलिस भी जाम स्थल पहुंची और लोगों द्वारा आरोपित खालिसपुर गांव के भूषण राय को पकड़कर थाने ले गई।

Share This Post

Post Comment