हिमाचल में ठंड से तीन की मौत, दिल्ली में टूटा पांच साल का रिकॉर्ड

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः उत्तरी भारत के मैदानी इलाकों सहित राजस्थान, हरियाणा में पारा जमाव बिंदु तक पहुंच गया है। पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के चलते समूचे उत्तर भारत में बुधवार को भी शीतलहर जारी रही। हिमाचल प्रदेश में दिल्ली के दो पर्यटकों सहित तीन लोगों की ठंड से मौत हो गई। बर्फबारी के चलते जम्मू-श्रीनगर मार्ग बुधवार को दूसरे दिन भी बंद रहा। हिमाचल प्रदेश को कंपकंपाती सर्दी से जकड़ लिया है। हांड़ कंपाने वाली हवाओं से लोगों के हाथ व पैर सुन्न हो रहे हैं। धर्मशाला में 60 साल के एक व्यक्ति की ठंड से मौत हो गई। दिल्ली के पर्यटकों सत्यजीत सिंह (30) और लखपत्र गुप्ता (75) की भी ठंड से मौत हो गई। सत्यजीत की हाल ही में शादी हुई है। वह कुफरी में घुड़सवारी कर रहे थे। उन्हें सीने मे तेज दर्द हुआ। उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वहीं गुप्ता की मौत संकटमोचन मंदिर के पास हुई। रिश्तेदारों ने कहा कि वृद्धावस्था के कारण उनकी धड़कन बंद हो गई। बुधवार को सबसे न्यूनतम तापमान केलंग में माइनस 7.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिल्ली में न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस नीचे (4.2) पहुंच गया और 18 जनवरी पिछले पांच साल में सबसे सर्द रही। मौसम विभाग का कहना है कि अगले दो दिनों तक ठिठुरन से राहत नहीं मिलेगी। वहीं कोहरा तो कम रहा, लेकिन ट्रेनों की लेटलतीफी कम होने का नाम नहीं ले रही है। दिल्ली जाने वाली 59 ट्रेनें लेट रहीं, वहीं 32 ट्रेनों का समय परिवर्तित कर चलाया गया। उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में मौसम की चुनौतियां बढ़ती जा रही हैं। बुधवार को बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री समेत उच्च हिमालय की चोटियों पर फिर हिमपात हुआ। उधर केदारनाथ में बादल छाए रहे। वहां भी बर्फबारी के आसार हैं। कश्मीर वादी में गत सोमवार से जारी बर्फबारी का सिलसिला बुधवार दोपहर थम गया। मौसम विभाग की मानें तो अगले सप्ताह तक बर्फबारी जारी रह सकती है। बुधवार दोपहर तक उच्च पर्वतीय इलाकों के साथ-साथ निचले इलाकों में रुक-रुक बर्फबारी होती रही। हालांकि दोपहर बाद बर्फबारी थम गई। अधिकांश सड़कों पर बर्फ व पानी जमा होने से लोगों को आने जाने में दिक्कतें आई। श्रीनगर-जम्मू हाईवे आंशिक रूप से खोल दिया गया है।

 

Share This Post

Post Comment