समय बीतने के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ रही हैं लोगों की परेशानियां

उत्तरकाशी, उत्तराखंड/नगर संवाददाताः नोटबंदी के बाद ज्यों-ज्यों समय बीत रहा है सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। नोटबंदी के 49वें दिन हमने ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकों का जायजा लिया तो हालात बेहद विकट नजर आए। काम-धाम छोड़ बैंकों में पैसा निकालने के लिए आज भी लंबी लाइनें लगी हुई है। हम बात कर रहे हैं उत्तरकाशी की धौंतरी स्थित स्टेट बैंक शाखा की। सहां पर लोग सुबह सात बजे से लाइन में लगे हुए हैं, बैंक भले ही दस बजे खुले इस सुदूर क्षेत्र में कड़ाके की ठंड के बावजूद लोग लाइन में खड़े है। इस बैंक से क्षेत्र की करीब 27 ग्राम सभाएं जुड़ी हैं। लोग कई किलोमीटर की पैदल दूरी तय कर भी सुबह सात बजे यहां पहुंच गए। कई लोग पिछले पांच दिनों से रोज आ रहे हैं।लेकिन, किसी का नंबर नहीं आया और किसी को हजार, दो हजार से ज्यादा पैसे नहीं मिल पाए। यही हाल उत्तरकाशी जिले की सीमा से लगे टिहरी के सीमांत लंबगांव का भी है। यहां बैंक के बाहर घंटों से एक दूसरे के कंधे का सहारा लेकर खड़े बुजुर्ग, जवान, महिलाएं बैंक खुलने का इंतजार कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में जहां सुबह से शाम तक महिलाएं खेतों में नजर आती थी, इन दिनों बैंक की लाइनों में लगी नजर आ रही हैं।

Share This Post

Post Comment