चोरी के आरोपी युवक की हिरासत में मौत

कोरबा, छत्तीसगढ़/नगर संवाददाताः छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में चोरी के मामले में पकड़े गए चार युवकों में से एक की मौत कथित रूप से पुलिस हिरासत में हो गई है। इस मामले में एक पुलिस अधिकारी समेत तीन पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया है। कोरबा जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले के कुसमुंडा थाना क्षेत्र के हरदीबाजार पुलिस चौकी के अंतर्गत भलपहरी गांव निवासी युवक सब्बीर देवार (37), बबलू देवार (36), गंगू देवार (25) और चंदन देवार (24) को पुलिस ने चोरी के एक मामले में हिरासत में लिया था। मामले की जांच क्राइम ब्रांच टीम कर रही थी। पुलिस का कहना है कि आरोपियों से चोरी की सामग्रियां बरामद की गई है। 24 दिसंबर को सब्बीर की मौत हुई है। मृतक सब्बीर की पत्नी कुमारी देवार ने बताया कि 19 दिसंबर की रात क्राइम ब्रांच पुलिस ने कोरिया जिले के चिरिमिरी से उसके हिरासत में लिया था। पुलिस पांच दिन से उसे प्रताड़ित कर रही थी। कुमारी ने बताया कि सब्बीर के भाई गंगू और बबलू देवार को भी पुलिस ने 19 दिसंबर को उसके घर से हिरासत में लिया था। पुलिस ने कबाड़ चोरी के मामले में पूछताछ करने की बात कही थी। इस मामले में पुलिस अधिकारियों का कहना है कि सब्बीर की तबीयत बिगड़ने पर एसईसीएल हॉस्पिटल से डॉक्टर बुलाकर जांच कराई गई तथा बाद में उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। जबकि परिजनों का कहना है कि सब्बीर की मौत हिरासत में हुई है। पुलिस अधिाकारियों ने बताया कि न्यायिक दंडाधिकारी द्वितीय श्रेणी रमेश कुमार चौहान की उपस्थिति में सब्बीर के शव का पोस्टमार्टम किया गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षक ने विभागीय स्तर पर जांच के लिए तीन सदस्यीय एक टीम का गठन किया है। वहीं क्राइम ब्रांच के प्रभारी उपनिरीक्षक कृष्ण कुमार ध्रुव, प्रधान आरक्षक राकेश सिंह और गुणाराम सिन्हा को लाइन हाजिर किया गया है। मृत युवक के परिजनों ने दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की है। पुलिस हिरासत में युवक की मौत के मामले में राज्य के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने छह सदस्यीय जांच समिति का गठन किया है।

Share This Post

Post Comment