कैश न मिलने से गुस्साए ग्रामीणों ने कर्मचारियों को बैंक के अन्दर किया बंद

चूरू, राजस्थान/नगर संवाददाताः चूरू जिले के बैंकों में पैसे नहीं मिल​ने के चलते बुधवार को ददरेवा गांव में सैकड़ों ग्रामीणों ने राजस्थान बड़ौदा ग्रामीण बैंक को ताला लगा दिया और बैं​क के कर्मचारियों व अधिकारियों को बैंक के अन्दर बंद कर दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने बैंक के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान उन्होंने बैंक अधिकारियों पर बैंक मे धांधली करने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों का कहना है कि मोदी ने जब से नोटबंदी की है उसके बाद से इस बैंक ने गांव के लोगों को एक बार पैसा दिया है। उसके बाद बैंक के अधिकारियों ने पैसा नहीं दिया। उन्होंने शाखा प्रबधंक पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहां कि बैंक के अधिकारी और कर्मचारी रात को 11 बजे तक बैंक को खुला रखते हैं और मिली भगत कर अपने निजी व्यक्तियों को पैसा देते हैं। इतना ही नहीं वे बैंक मे आने वाली महिलाओं के साथ छेड़खानी भी करते हैं। ग्रामीणों ने कहा कि जब तक बैंक की जांच नहीं होगी तब तक बैंक का ताला नहीं खोला जाएगा। वहीं प्रदर्शन की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और समझाइश की, लेकिन उन्होंने पुलिस की नहीं मानी और मांगों पर अड़े रहे। इस दौरान बैंक में ताला लगा रहा। वहीं प्रदर्शन के दौरान गांव के एक बुजर्ग व्यक्ति की भी तबीयत बिगड़ गई, जिससे ग्रामीणों ने बुजर्ग को एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया है।

Share This Post

Post Comment