नोटबंदी पर लोगों को गुमराह नहीं करें प्रधानमंत्रीः कांग्रेस

नई दिल्ली। नोटबंदी को लेकर सरकार पर लगातार हमले बोल रही कांग्रेस ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर संसद और विपक्ष का अपमान करने का आरोप लगाया और कहा कि उनको दूसरे स्थानों पर लोगों को गुमराह करने की बजाय, संसद में अपनी बात रखनी चाहिए। राज्यसभा में कांग्रेस के उप नेता आनंद शर्मा ने एजेंडा आजतक कार्यक्रम में कहा, जब सरकार कोई बड़ा फैसला करती है तो संसद में इस बारे में बताती है। लेकिन नोटबंदी पर इस सरकार ने ऐसा नहीं किया। प्रधानमंत्री ने संसद और विपक्ष दोनों का अपमान किया है। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री नोटबंदी के बारे में गोवा बोलते हैं, दूसरे स्थानों पर बोलते हैं, लेकिन सदन में नहीं बोलते। वह लोगों को गुमराह कर रहे हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा, देश में 86 फीसदी मुद्रा खत्म कर दी गई। इसको काला धन बता दिया गया। हम भी चाहते हैं कि काला धन खत्म हो, आतंकवाद पर चोट पहुंचे। परंतु नोटबंदी को लेकर पहले से कोई तैयारी नहीं की गई। शर्मा ने कहा, अब तक 10 लाख करोड़ रूपये से अधिक बैंकों में आ चुके हैं, लेकिन सरकार का मानना है कि इसमें बहुत कम राशि ही जाली है। स्पष्ट होता है कि यह नोटबंदी जाली नोटों को लेकर नहीं की गई। सरकार ने जितनी मुद्रा वापस ली उतना छाप नहीं पाई। उसका यह काम कानूनन गलत है। सरकार को कोई अधिकार नहीं है कि वह लोगों के पैसे छीने। उन्होंने दुनिया के कुछ देशों में नोटबंदी से जुड़े कदमों का हवाला देते हुए कहा, दुनिया में सबसे ज्यादा जाली मुद्रा डॉलर की है। लेकिन अमेरिका ने भी नोटबंदी नहीं की। उत्तर कोरिया और नाइजीरिया में इस तरह के कदम उठाये गये, लेकिन वहां स्वयंभू नेता हैं। शर्मा ने नोटबंदी का कारोबार पर बुरा असर पड़ने का दावा करते हुए कहा, नोटबंदी की वजह से कारखाने बंद हो रहे हैं। सूरत में कपड़े और हीरों के कारखानों पर असर हुआ है। बनारस और दूसरे स्थानों पर भी व्यवसायों पर बुरा असर पड़ा है।

Share This Post

Post Comment