स्कूल कैंपस की दुकानों में ही धुम्रपान की जोरो से बिक्री

नागौर, राजस्थान/भूराराम जांगिड़ः नागौर जिले के मेडता रोड कस्बे में टच एंड फील जंक्शन जैसे शहर में भी स्कूल कैम्पस की दुकानों में ही धुम्रपान की जोरो से बिक्री हो रही है। जबकि पूरे भारत में किसी भी स्कूल कैंपस की 100 मीटर यानी 400 फिट की परीधि में धुम्रपान की कोई भी सामग्री बेचना मना है। जैसा कि पान, गुटखा, पान मसाला, खैनी, तंबाकु और सिगरेट। यह बात सिर्फ मेडता रोड या नागौर जिले तक ही सिमित नहीं है बल्कि पूरे भारत देश में सब जगह देखने को मिलता है। यहां तक कि कानून भी बना है कि नाबालिक बच्चों को धुम्रपान बेचना मना है। लेकिन यह कानून सिर्फ कागजों में ही बनकर रह गया है। कभी भी किसी पुलिस वालों ने इस जुर्म में किसी को कही भी गिरफ्तार नही किया। ऐसे कई सवाल हर आम आदमी के मन में है।

Share This Post

Post Comment