रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की मुलाकात

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए गोवा आए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। इस दौरान भारत और रूस के बीच 16 बड़े समझौते हुए। इसमें सबसे अहम है 200 कामोव हेलीकाप्टरों के संयुक्त उत्पादन और एस-400 ‘ट्रंफ’ लंबी दूरी की क्षमता वाली वायु रक्षा मिसाइल प्रणाली के करार पर दस्तखत। इस मिसाइल में अपनी तरफ आ रहे दुश्मन के विमानों, मिसाइलों और ड्रोनों को 400 किलोमीटर तक के दायरे में मार गिराने की क्षमता है। एस-400 पहले केवल रूसी रक्षा बलों के लिए ही उपलब्ध था। यह एस-300 का उन्नत संस्करण है। अलमाज-आंते ने इसका उत्पादन किया है और रूस में 2007 से यह सेवा में है। इस मुलाकात के बाद साझा बयान में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘मुझे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का स्वागत करते हुए बेहद खुशी हुई। रूस हमारा पुराना दोस्त है। एक पुराना दोस्त दो नए दोस्तों से बेहतर होता है। भारत और रूस के बीच अनूठी दोस्ती है। मैंने और राष्ट्रपति पुतिन ने विस्तार से सभी मुद्दों पर बात की। आतंकवाद के मुद्दे पर भारत और रूस साथ हैं.’  इससे पहले कोहरे के कारण नौ घंटे की देरी से गोवा पहुंचे व्लादिमीर पुतिन ने पीएम मोदी के साथ बातचीत की, जिसके बाद दोनों नेताओं के साथ उनके शिष्टमंडल भी बैठक में शामिल हुए। ये हुई अहम डील: 200 कामोव हेलीकॉप्टर पर समझौता, एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम एस 400 पर समझौता, आंध्र प्रदेश, हरियाणा में स्मार्ट सिटी, भारत-रूस में गैस पाइपलाइन समझौता, जहाज निर्माण में समझौता, शिक्षा के क्षेत्र में समझौता, रेलवे के क्षेत्र में समझौता, विज्ञान-तकनीक के क्षेत्र में समझौता।

Share This Post

Post Comment