विधायक सरुप चंद सिंगला ने हाई कोर्ट और माननीय सुप्रीम कोर्ट के फैंसले की तौहिन की

भटिंडा, पंजाब/प्रदीपः भटिंडा के शरोमणि अकाली दल के विधायक सरूप चंद सिंगला ने हाई कोर्ट के बाद सुप्रीम कोर्ट के आदेशो की उल्घंना करते हुये अभी तक मुख्य संसदीय सक्तर की कुर्सी से मोह नही छोड़ा।  जोकि सुप्रीम कोर्ट की उल्घंना को तोड़ना उनकी मर्यादा के खिलाफ है। इसका जीता जागता सबूत अभी भी उनकी कोठी की गली के बाहर दोनो तरफ लगे घर की नम्बर प्लेट है। ऐसा नही है कि विधायक सरुप चंद सिंगला को इसकी भनक नही है। लेकिन वो मुख्य संसदीय सक्तर की इस कुर्सी से मोह नही छोड़ रहे। कुछ दिन पहले जब हमारे  हैड़ क्राइम रिपोर्टर ने विधायक सरुप चंद सिंगला के रिशतेदार व  यूथ अकाली दल के प्रधान से इस बोर्ड पर लगे नाम के बारे मे पूछा तो उन्होने जबाब दिया कि हाई कोर्ट द्वारा मुख्य संसदीय सक्तर पर रोक लगाई है। उन पर आज माननीय सुप्रीम कोर्ट मे तारीक है। वही से जो भी फैंसला होगा उसका पालन किया जायेगा। लेकिन हाई कोर्ट के फैंसले के आधार पर पंजाब सरकार की अपील को माननीय सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया। इस फैंसले के दस दिनो के बाद भी भटिंडा शहरी विधायक ने माननीय सुप्रीम कोर्ट के फैंसले का पालन न करके उल्लघंना की है।

Share This Post

Post Comment