भारत पाक में मौजूद तनाव कम करने की हुई शुरुआत , दोनों एनएसए ने की टेलीफोन पर बात

बारामूला, जम्मू और कश्मीर/शिवशंकर लालः भारत पाकिस्तान के बीच वर्त्तमान समय हालाते जंग जैसा माहौल बना हुआ है। बारामूला में 46 आर आर के बेस पर हुई आतंकी हमले और एक बीएसएफ जवान की शहादत के दोनों मुल्कों के बीच तुर्शी और बढ़ गई है।इसी बीच खबर आ रही है कि उरी स्थित सेना के बेस पर आतंकवादी हमले और भारत द्वारा नियंत्रण रेखा के भीतर पाक अधिकृत कश्मीर में जाकर घुसपैठ की तैयारी कर रहे आतंकियों के खिलाफ किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दोनों देशों में मौजूद भारी तनाव के बीच भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल तथा उनके पाकिस्तानी समकक्ष नासिर जांजुआ ने फोन पर एक दूसरे से बातचीत की है।मतलब रिश्तो में मौजूद बर्फ अब पिघलने का मौका तलाश कर रही है। पाक के वज़ीरे आज़म मियां नवाज़ शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अज़ीज़ ने कहा कि दोनों वरिष्ठ नेता नियंत्रण रेखा पर तनाव कम करने के लिए कदम उठाने पर सहमत हो गए हैं। बताया गया है कि सरताज अज़ीज़ ने कहा, दोनों राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों ने हालिया तनाव के बाद यह पहली बातचीत की है। दूसरी तरफ दोनों न्यूक्लियर पावर से लैश मुल्को के तल्ख़ रिश्तो को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने भारत और पाकिस्तान से तनाव कम करने का आग्रह किया है। वही भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी रविवार को कहा, “हमारा देश कभी किसी की धरती का भूखा नहीं रहा,हमने कभी किसी देश पर आक्रमण नहीं किया है।” विदित हो की सर्जिकल स्ट्राइक से कुछ ही दिन पहले 18 सितंबर को पाक आतंकवादियों ने कश्मीर के उरी में स्थित आर्मी बेस पर हमला किया था, जिसमें 19 जवान शहीद हुए थे। हमले के बाद पूरा मुल्क में गुस्सा और आक्रोश भड़क उठा था। पीएम नरेंद्र मोदी ने इसके बाद कहा था कि उरी हमले का जवाब ज़रूर दिया जाएगा। वही पाकिस्तान ने इस बात का लगातार खंडन कर रहा है कि पिछले गुरुवार को कोई सर्जिकल स्ट्राइक किया गया था। पूरी घटना को उन्होंने महज ‘सीमापार से होने वाली गोलीबारी’ करार दिया। वही गुरुवार के बाद से अब तक पाकिस्तान वर्ष 2003 से जारी युद्धविराम का कई बार उल्लंघन कर चुका है। साथ ही कश्मीर में लगतार एक छद्म युद्ध जारी रखने खातिर समय समय पर आतंकियों को बॉडर क्रॉस करवाता रहता है।

Share This Post

Post Comment