गौतम बुद्धनगर में पंचायत चुनाव रद्द करने का निर्णय हाईकोर्ट ने नहीं माना सही

इलाहाबाद, यूपी/नगर संवाददाताः इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गौतम बुद्धनगर में पंचायतों का का चुनाव रद्द कर नए सिरे से चुनाव करने के यूपी सरकार के निर्णय को सही नहीं माना है. मुख्य न्यायाधीश डीबी भोसले और न्यायाधीश यशवंत वर्मा की खंडपीठ ने निर्देश दिया है कि प्रदेश सरकार के पंचायती राज विभाग 17 अक्टूबर तक इस मामले में अपना निर्णय लेकर कोर्ट को अवगत कराए. वहीं सरकार का पक्ष रख रहे सरकारी वकील ने कहा, ‘गौतम बुद्धनगर में पंचायत चुनाव रद्द करना सही नहीं था. हम इस पर फिर से विचार करेंगे. बता दें, कि गौतम बुद्धनगर के ब्रजभान ने याचिका दायर कर सरकार के उस अधिसूचना को चुनौती दी थी जिसके द्वारा अधिसूचित औद्योगिक विकास क्षेत्र में आने वाली समस्त पंचायतों का चुनाव रद्द कर नए सिरे से चुनाव करने का सरकार ने निर्णय लिया है.यूपी सरकार के इस फैसले को चुनौती देते हुए कहा गया था कि पंचायती विभाग ने इस प्रकार कि अधिसूचना जारी कर कानूनी गलती की है. क्योंकि उन स्थानों का भी पंचायत चुनाव रद्द कर दिया गया है जहां का एरिया औद्योगिक विकास क्षेत्र के अंतर्गत अधिसूचित नहीं है.

Share This Post

Post Comment