फर्श पर खाना परोसने से सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में मची हलचल

रांची, झारखंड/नगर संवाददाताः रिम्स में फर्श पर खाना परोसने का मामले ने शनिवार को तीसरे दिन भी सूबे के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में हलचल मचाए रखा. शनिवार को पीड़िता मुन्नी देवी सहित पांच लोगों को मानसिक चिकित्सालय रिनपास भेजा गया. गौरतलब है कि शुक्रवार को मीडिया के माध्यम से मामला सामने आने के बाद सीएम रघुवर दास ने सख्त नाराजगी दिखायी. सीएम ने रिम्स निदेशक को दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश दिया था. कमेटी बनाकर 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट सौंपने की बात कही थी. इस आदेश के बाद राज्य सरकार के निर्देश पर पूरे मामले की जांच करने गई विशेष जांच टीम ने भी इसे सही मानते हुए रिम्स प्रबंधन पर नाराजगी जताते हुए सरकार को रिपोर्ट भेजने की बात कही है. स्वास्थ्य सेवा के संयुक्त सचिव मनोज कुमार ने बताया कि निरीक्षण में बात सही पायी गई. पीड़िता मुन्नी करीब 15 दिनों से रिम्स के बरामदे पर रहती थी. पीड़िता ने बताया कि उसके पास बोतल में पानी रहता था जिससे फर्श साफ कर वह जमीन पर परोसा खाना खा लेती थी. मामले में खाना परोसने वाले अनुबंधकर्मी चंद्रमणि प्रसाद को हटा दिया गया था. झारखंड हाई कोर्ट ने भी मामले पर स्वत: संज्ञान लेते हुए शुक्रवार को रिम्स प्रबंधन और राज्य सरकार से 26 सितम्बर तक जवाब मांग की.  साथ ही मामले में प्रबंधन और सरकार के द्वारा क्या क्या कदम उठाए गये हैं,और भविष्य में ऐसी घटनाएं न हो, इसके लिए क्या कदम उठाए जाएंगे, इस पर जवाब देने का आदेश दिया है. मामले की अगली सुनवाई 28 सितम्बर को तय की गई है.

Share This Post

Post Comment