कावेरी जल के बंटवारे को लेकर कर्नाटक बंद

धारवाड़, कर्नाटका/डुंगराराम चैधरीः बेंगलुरू सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कर्नाटका हर रोज तमिलनाडु को 15 हजार क्यूसेक पानी छोड़ रहा है। लेकिन मांडया से शुरू विरोध राजधानी बेंगलुरू तक पहुंच चुका है। कई कन्नड़ संगठनों की ओर से किए गए बंद के ऐलान के बाद कर्नाटका में जनजीवन पर असर पड़ा है। बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है। बसे भी बंद है ऐहतियात के तौर पर स्कूल और काॅलेज बंद है। कन्नड़ संगठनों के बंद को कई राजनीतिक दल भी समर्थन दे रहे है। आवश्यक सेवाएं जैसे दूध, एंबुलेंस दवा की दुकाने अस्पताल प्रभावित नहीं हुए।

Share This Post

Post Comment