पांच लाख के इनामी नक्सली ने किया आत्मसमर्पण

रायपुर, छत्तीसगढ़/नगर संवाददाताः छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पांच लाख रुपए के इनामी नक्सली ने बुधवार को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया. राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ शासन की आत्समर्पण नीति से प्रभावित होकर बुधवार को पांच लाख रुपए के इनामी नक्सली सत्तेर उर्फ मंगेल उर्फ भारत गावड़े ने एसआईबी मुख्यालय रायपुर में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया. सत्तेर उत्तर बस्तर डिवीजन के अंतर्गत रावघाट एरिया कमेटी के पानीडोबरी एलओएस का सदस्य है. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सत्तेर वर्ष 2003 में नक्सली संगठन में भर्ती हुआ था। वह लगातार कांकेर और राजनांदगांव क्षेत्र में सक्रिय रहा है। यह पूर्व में नक्सली नेता मड़कम गोपन्ना का गार्ड के रूप में तथा सुखदेव उर्फ मालू उर्फ गुड्सा उसेंडी के गार्ड के रूप में कार्य कर चुका है। उन्होंने बताया कि सत्तेर इसके अलावा रावघाट एरिया कमेटी के अंतर्गत पानीडोबरी एलओएस सदस्य एवं प्लाटून नंबर 23 के कमांडर के रूप में भी काम कर चुका है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सत्तेर का महिला नक्सली अरूणा के साथ प्रेम संबंध था। लेकिन जब नक्सली नेताओं को इस बात की जानकारी मिली तब उन्होंने दोनों को प्रताड़ित किया। बाद में नक्सली अरूणा ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। उन्होंने बताया कि नक्सली सत्तेर वर्ष 2008 में बालोद जिले में विस्फोट की घटना में सीआईएसएफ के तीन जवानों की हत्या, वर्ष 2010 में महाराष्ट्र के खोब्रामेढ़ा में छह सुरक्षा कर्मियों को घायल करने की घटना और इस वर्ष ग्रामीणों की हत्या में शामिल होने का आरोप है. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सली सत्तेर से पूछताछ पर कांकेर और राजनांदगांव क्षेत्र के नक्सली संगठन के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारी मिली है. आत्मसमर्पण करने वाले नक्सली को पुर्नवास नीति के तहत सुविधाएं दी जाएगी.

Share This Post

Post Comment