वातावरण व विचारों में शुद्धता लाने को प्रयासरत है सेवा भारती-फकीरचंद गोयल

फजिल्का, पंजाब/विनीत मुटनेजाः आसपास के वातावरण की शुद्धता के साथ-साथ सभी के विचारों व जीवन को शुद्ध करने का निरंतर प्रयास कर रही है सेवा भारती संस्था।श्री गोशाला प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष फकीर चंद गोयल ने श्री राधावल्लभ मंदिर में आज सेवा भारती की ओर से आयोजित तुलसी वितरण समारोह में शहरवासियों को संबोधित करते कहा कि अच्छे संस्कारों व ठीक मार्गदर्शन के अभाव में युवा वर्ग पथभ्रष्ट हो रहा है। अभिभावकों व शिक्षकों को चाहिए कि बच्चों को स्कूली शिक्षा के अलावा उच्च चरित्रवान और संस्कारवान बनाने को यकीनी बनाएं। बच्चों को महापुरुषों के जीवन के प्रेरक प्रसंग सुना कर देश की अनमोल संस्कृति से परिचित करवाते रहें। उन्होंने सामाजिक संस्थाओं से आग्रह किया कि अनुसूचित व पिछड़ा वर्ग के भाई-बहनों को सामान्य वर्ग के बराबर लाने के लिए उन मोहल्लों में भी ज्यादा से ज्यादा कार्यक्रम आयोजित किए जाएं ताकि गुरु रविदास जी, संत कबीर जी व भगवान वाल्मीकी जी के उपदेश व कल्याणकारी संदेश सार्थक हो सकें। श्री राम शरणम आश्रम के मुख्य सेवक मदनलाल भालोठिया ने सेवा भारती के विभिन्न सेवा कार्यों की सराहना करते कहा तुलसी का पौधा जहां वातावरण की शुद्धता में उपयोगी है वहीं अपने घर अथवा जिस स्थान पर इसे स्थापित किया जाता है यह वहां का वास्तु दोष भी दूर करता है। उन्होंने समाज में जागरणों व झांकियों के रुप बढ़ते जा रहे देवी-देवताओं के अपमान पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए सभी को गंभीरता से प्रयास करने व एकजुट होने का आवा्हन किया। श्री भालोठिया ने उच्च न्यायालय द्वारा निर्धारित किए गए आदेशों की जानकारी देते बताया कि देवी देवताओं का वेष धारण करके भीख मांगना या झांकियां निकलना गैरकानूनी है तथा यह दंडनीय अपराध है। संस्था के वरिष्ट उपप्रधान केसी बजाज ने भी तुलसी के औषधीय गुणों की जानकारी देते हुए इसके नियमित सेवन की विधी बताई। प्रधान सतपाल गिल्होत्रा ने सभी अतिथियों व सदस्यों का पधारने और समारोह को सफल बनाने पर आभार जताया। इस मौके पर संस्था के सदस्यों, दीदीयों के अलावा मुख्यातिथि जयप्रकाश मित्तल, महेश गुप्ता, पंडित मातादीन शास्त्री, राकेश धुड़िया, राजीव गोदारा, कमल खुराना, डूंगरमल पेड़ीवाल, सुनील चावला टीटी व अनेकों गणमाण्य क्षेत्रवासी भी उपसि्थत हुए।

Share This Post

Post Comment