पुलिस अकादमी में मनाया गया 70वां स्वाधीनता दिवस

जयपुर, राजस्थान/अशोक कुमारः राजस्थान पुलिस अकादमी में 70वां स्वाधीनता दिवस पूर्ण हर्ष और उल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर अकादमी परिसर में शानदार सजावट की गई एवं अकादमी के प्रवेश द्वार एवं प्रमुख भवनों के सामने शानदार रंगोली सजाई गई। मुख्य समारोह श्री राजीव दासोत निदेशक राजस्थान पुलिस अकादमी के आगमन से प्रातः8 बजे शुरू हुआ। स्टेडियम पहुंचने पर उनका अकादमी के उप निदेशक एवं सहायक निदेशकगण द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराने के पश्चात अकादमी के बैंड द्वारा राष्ट्रगान वादन किया गया। राष्ट्रगान वादन के दौरान सभी उपस्थित वर्दीधारियों ने भी सेल्यूट कर राष्ट्रगान के प्रति सम्मान अभिव्यक्त किया। इस अवसर पर अकादमी के निशक श्री राजीव दासोत ने सभी उपस्थित अधिकारी एवं कर्मचारियों आवासीय परिसर के निवासियों तथा अकादमी स्थित राजकीय माध्यमिक विद्यालय के स्टाफ एवं बच्चों को 70वें स्वाधीनता दिवस की बधाई दी। उन्होंने इस अवसर पर प्रदेश के लिए शहीद होने वाले लोगों को कोटिशः नमन करते हुए आजादी के मूल्यों को सहेज कर रखने का आहवान किया। उन्होंने सभी पुलिसकर्मियों को पुलिस की आचार संहिता को अपनाने के साथ ही राजस्थान पलिस का ध्येय वाक्य आमजन में विश्वास एवं अपराधियों में डर को चरितार्थ करने पर बल दिया। उन्होंने राजस्थान पुलिस अकादमी की गणना देश की श्रेष्ठ 6 अकादमियों में होने के लिए सभी पूर्व निदेशकों तथा प्रशिक्षकों को अकादमी को इस स्तर पर पहुंचाने का श्रेय देते हुए सभी उपस्थित अधिकारियों को अकादमी को और अधिक उत्कृष्टता प्रदान करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि उत्कृष्टता की कोई सीमा निर्धारित नहीं की जा सकती है। प्रत्येक उत्कृष्ट वस्तु में भी ओर अधिक सुधार की संभावना हमेशा रहती है। इस अवसर पर बोलते हुए उन्होंने देश के सम्मुख विभिन्न चुनौतियों का उल्लेख करते हुए सभी को उपनी पूर्ण ऊर्जा एवं क्षमता के साथ कार्य करने का आहवान किया तथा प्रशिक्षण में और अधिक गुणवत्ता लाने की आवश्यकता बताई। इस अवसर पर अकादमी में सभी कर्मचारियों एवं स्कूल की छात्र छात्राओं को मिठाई वितरित की गई। इसके पश्चात अकादमी में प्रशिक्षक एवं प्रशिक्षुओं के बीच रस्सा कसी एवं फुटबाल मैच का आयोजन किया गया। राजकीय माध्यमिक विद्यालय के स्टाफ एवं बच्चों को 70वें स्वाधीनता दिवस की बधाई दी। उन्होंने इस अवसर पर देश के लिए शहीद होने वाले लोगों को कोटिशः नमन करते हुए आजादी के मूल्यों को सहेज कर रखने का आहवान किया। उन्होंने सभी पुलिसकर्मियों को पुलिस की आचार संहिता को अपनाने के साथ ही राजस्थान पुिलस का ध्येय वाक्य आमजन मे विश्वास एवं अपराधियों मे डर को चरितार्थ करने पर बल दिया। उन्होंने राजस्थान पुलिस अकादमी की गणना देश की श्रेष्ठ 6 अकादमियों मे होने के लिए सभी पूर्व निदेशकों तथा प्रशिक्षकों को अकादमी को इस स्तर पर पहुंचाने का श्रेय देते हुए सभी उपस्थित अधिकारियों को अकादमी को ओर अधिक उत्कृष्टता प्रदान करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि उत्कृष्टता की कोई सीमा निर्धारित नहीं की जा सकती है। प्रत्येक उत्कृष्ट वस्तु में भी और अधिक सुधार की संभावना हमेशा रहती है। इस अवसर पर बोलते हुए उन्होंने देश के सम्मुख विभिन्न चुनौतियों का उल्लेख करते हुए सभी को अपनी पूर्ण ऊर्जा एवं क्षमता के साथ कार्य करने का आहवान किया तथा प्रशिक्षण में और अधिक गुणवत्ता लाने की आवश्यकता बताई। इस अवसर पर अकादमी में सभी कर्मचारियों एवं स्कूल की छात्र छात्राओं को मिठाई वितरित की गई। इसके पश्चात् अकादमी में प्रशिक्षक एवं प्रशिक्षुओं के बीच रस्सा कसी एवं फुटबाल मैच का आयोजन किया गया। रस्सा कसी की तीनों प्रतियोगिताओं जहां प्रशिक्षकों ने जीती, वहीं फुटबाॅल मैच 0-3 के मुकाबले प्रशिक्षकों के पक्ष मंे रहा।

Share This Post

Post Comment