रात्रि में भी होगा शवों का पोस्टमार्टम, डीएम ने जारी किए आदेश

गोंडा, युपी/मयूर रैतानीः डीएम आशुतोष निरंजन ने विशेष परिस्थितियों में पोस्टमार्टम रात्रि के समय पर्याप्त रोशनी में किए जाने के निर्देश दिए हैं। यह जानकारी देते हुए डीएम श्री निरंजन ने बताया कि प्रायः यह देखा जाता है कि रात्रि के समय शवों के परीक्षण (पोस्टमार्टम) हेतु कभी जनता के लोग, कभी राजकीय कर्मी उनके समक्ष आते रहते हैं। इस प्रक्रिया में एकरूपता न होने के कारण रात्रि में पोस्टमार्टम कराए जाने हेतु निर्णय लेने में कठिनाई होती है। प्रायः यह भी देखा जाता है कि ऐसे मामले जिसमें रात्रि में दुर्घटनाा के कारण हुई मृत्यु, हत्या के वह प्रकरण जिनमे धरना प्रदर्शन या अन्य कारणों से कानून व्यवस्था के प्रभावित होने की प्रबल होती है। इसके अलावा ऐसे भी मामले संज्ञान में आते है कि शव क्षत-विक्षत हो गए हैं, या शव के सड़-गल जाने की संभावना प्रबल रहती है। ऐसे शवों के सम्बन्ध में पुलिस विभाग के उपनिरीक्षक की पठनीय रिपोर्ट व कार्यकारी मजिस्ट्रेट द्वारा पुलिस अधीक्षक के माध्यम से डीएम के सामने प्रस्तुत करना होगा। तदुपरान्त डीएम की अनुमति से शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने हेतु शवों का रात्रि में पोस्टमार्टम होगा। डीएम श्री निरंजन ने इस सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक व मुख्य चिकित्साधिकारी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि आदेश का तत्काल प्रभाव से अनुपालन सुनिश्चित कराते हुए रात्रि में शवों को पोस्टमार्टम कराया जाय।

Share This Post

Post Comment