” फ़रिश्ते” की भूमिका निभाते पूर्णिया एसपी ने संभाली राहत और बचाव कार्य की कमान

भटिंडा, पंजाब/शिवशंकर लालः सूबे के कई जिलों में बाढ़ का कहर जारी है। बिहार का सीमावर्ती जिला पूर्णिया भी नदियों के उफान से कराह रहा है। सरकारी अमला और जिला प्रशासन लगातार पीड़ितों तक पहुचने की कवायद में दिन रात एक किये है। इस प्रयास को अमली जामा पहनाने के लिए जिले के हरदिल अज़ीज़ और आम लोगो के बीच बेहद लोकप्रिय एसपी निशांत कुमार तिवारी के बेहद जिम्मेदारी पूर्ण किए जा रहे प्रयासो ने बाढ़ पीड़ितों समेत पूरे सूबे में चर्चा का विषय बन गया है। अमूमन बाढ़ के समय जिले के डीएम और जिले का प्रशासनिक अमला महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। वही एनडीआरएफ और अन्य एजेंसिया बचाव कार्य में महती भूमिका निभाती है। लेकिन बतौर एसपी जिस तरह की भूमिका निशांत तिवारी6 द्वारा निभाई जा रही है वो उनके जिम्मेदारियों के प्रति ज़ज़्बे को न केवल प्रदर्शित बल्कि उनकी भलामा –नसता को दिखाता है। बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री की पैकिंग व्यवस्था हो या बाढ़ से घिरे इलाके में बोट पे सवार हो कर बाढ़ पीड़ितों को बचाने खातिर एगढ़नडीआरएफ की टीम का नेतृत्व करना हर जगह उनकी मौजूदगी और अपनी जिमओ्मेदारी का निर्वहन करना उनके आम लोगो के प्रति के समर्पण भाव को परिलक्षित करता है। रात दिन हर पहर में उफनती नादिया हो या राहत सामग्री पैकिंग स्थल हो निशांत हर काम को सुचारू ढंग के जारी रखने खातिर मौजूद रह रहे है।

Share This Post

Post Comment